मुरादाबाद: प्रधानमंत्री आवास योजना को पलीता लगाया जा रहा है। पीतल बस्ती पुलिस चौकी के पास शनिवार को कूड़े के ढेर में प्रधानमंत्री आवास योजना के फामरें से भरा बोरा पड़ा मिला। फार्म मिलने से डूडा व नगर निगम अफसरों में खलबली मच गई है। इससे सैकड़ों लोगों का निश्शुल्क आवास का सपना चकनाचूर हो गया है। एक फार्म पर आवेदनकर्ता का मोबाइल नंबर लिखा देखने पर उसके परिचित की सजगता से पूरा मामला खुला। वह मौके पर पहुंचे। एक बोरी फार्म बताए जा रहे हैं, जिन्हें लोगों ने पीतल बस्ती पुलिस चौकी को सौंप दिया। पुलिस से यह फार्म स्वास्थ्य विभाग के बाबू नंद किशोर ने मंगाकर अपने कब्जे में लिए हैं। यह है पूरा मामला

महानगर में प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर दलाल सक्त्रिय हैं। इन्हीं दलालों ने घर-घर घूमकर प्रधानमंत्री आवास दिलाने के नाम पर वसूली की और फार्म भरवा लिए। वसूली करने के बाद इन्हें डूडा कार्यालय में जमा नहीं किया। इसकी जानकारी बुद्धि विहार निवासी योगेश सैनी ने दी है। किराए पर रहने वाले योगेश सैनी ने भी आवेदन किया था। आवेदन पर योगेश सैनी का नाम लिखा देख एक परिचित ने जब फोन किया तो वह बुद्धि विहार से पीतल बस्ती पहुंच गए और अपना फार्म देखने के बाद जानकारी दी कि एक एजेंट ने घर आकर यह फार्म भरवाया था। एजेंट ने इसकी एवज में 1000 रुपये भी वसूले थे। फार्म भरने की सुविधा ऑनलाइन व मैनुअल दोनों तरीके से थी। दलालों को नहीं रोक पा रहा डूडा विभाग

डूडा विभाग में आए दिन ऐसे आवेदनकर्ता पहुंचते हैं जो निश्शुल्क आवास नहीं मिलने की शिकायत करते हैं। हाल ही में जयंतीपुर में 13-13 हजार रुपये प्रधानमंत्री आवास दिलाने के नाम पर एक महिला ने वसूले थे। जिसकी शिकायत जयंतीपुर पुलिस चौकी में क्षेत्र के पार्षद ने दी थी। लालबाग में भी दलालों ने प्रधानमंत्री आवास योजना के 50-50 हजार रुपये लाभार्थियों से हड़प लिए थे। लाभार्थियों को झासा दिया था कि वह सरकारी कर्मचारी हैं और खाते में जो पैसे आए हैं उन्हें निकालकर दे दो, जिससे ईंट, सरिया व सीमेंट खरीदकर मकान बनवाया जा सके। यह रकम लाभार्थियों ने खाते से निकालकर दे दी। बाद में नींद खुली तो डूडा विभाग में शिकायत की गई। इस मामले में डीएम के आदेश पर एफआइआर कराई गई थी। जाच के बाद होगी कार्रवाई

कूड़े के ढेर में पीएम आवास योजना के फार्म मिलने की सूचना मिली है। यह दलालों की शरारत हो सकती है। चौकी प्रभारी पीतल बस्ती को लोगों ने यह फार्म सौंप दिए हैं। जाच कराकर ऐसे दलालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

दीपक कुमार, डूडा अधिकारी तहरीर मिलने पर होगी जाच

एक बोरी फार्म में करीब 150 फाइल थीं। डूडा विभाग को इसकी जानकारी दी गई है। संबंधित अधिकारी की ओर से तहरीर मिलती है तो जाच की जाएंगी।

मुकेश शुक्ला, चौकी इंचार्ज, पीतल बस्ती

Posted By: Jagran