मुरादाबाद, जेएनएन। Prime Minister Svanidhi Rojgar Yojna : सरकार कैशलेस लेने देने को बढ़ावा देने के लिए छोटे-छोटे दुकानदारों को भी क्यूआर कोड लगाना अनिवार्य करने जा रही है। बैंक द्वारा सभी दुकानदारों को क्यूआर कोड उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार ने छोटे-छोटे दुकानदारों को कारोबार के लिए आर्थिक सहायता देने के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना शुरू किया है। इसके तहत छोटे दुकानदारों को प्रथम चरण में दस हजार रुपये का ऋण दिया जाता है।

दुकानदार इस राशि से व्यवसाय को बढ़ा सकता है। कम ब्याज और आसान किश्तों में राशि वापस करना होती है। छोटे दुकानदार के पास बैंक जाने का समय नहीं होता है, इस लिए कई बार समय से किश्त राशि जमा नहीं कर पाता है। रिजर्व बैंक ने गाइड लाइन जारी की है, इसमें कहा है कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थी दुकानदारों को क्यूआर कोड बैंक उपलब्ध कराएंगे, जो दुकानदार के बैंक के खाते जुड़ा होगा।

अधिकांश उपभोक्ता छोटी-छोटी खरीदारी करने पर मोबाइल के द्वारा गूगल पे या क्यूआर कोड को स्कैन कर भुगतान करते हैं। इस व्यवस्था से उपभोक्ता छोटे दुकानदारों से कैशलेस सामान खरीद पाएंगे। दुकानदार इसी के माध्यम से व्यापारियों को भुगतान कर सकता है। इसके कारण लाभार्थी के बैंक खाते हर समय राशि जमा होगा और बैंक निर्धारित समय पर ऋण के किश्त की कटौती कर लेगा, जिससे दुकानदारों को किश्त जमा करने बैंक जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक विशाल दीक्षित ने बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि रोजगार योजना के तहत ऋण देने वाले बैंक को आदेश दिया है कि ऋण लेने वाले सभी लाभार्थी को क्यूआर कोड उपलब्ध कराएं और अपनी दुकानों पर सामने रखने के बारे में जानकारी दें, जिससे ग्राहक क्यूआर कोड के द्वारा सामान की कीमत का भुगतान कर सकता है।

Edited By: Samanvay Pandey