मुरादाबाद, जागरण संवादाता। बरेली जोन के नवागत एडीजी राजकुमार ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद मुरादाबाद का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने पुलिस लाइन में सभी पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करके आगामी विधानसभा चुनाव को शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय पुलिस बल को ठहराने के लिए चिन्हित दो स्थानों का भ्रमण करके आवश्यक निर्देश दिए। एडीजी ने सभी वरिष्ठ अधिकारियों से कहा कि मुरादाबाद जोन में लापता हिस्ट्रीशीटरों की संख्या बहुत ज्यादा है। ऐसे में इन सभी को चुनाव से पहले खोजकर सलाखों के पीछे भेजने की कार्रवाई की जाए।

उन्होंने कहा कि अपराध नियंत्रण के लिए थानों में निष्पक्ष सुनवाई होनी चाहिए। बीते कुछ दिनों में देखने को आया है कि थाने में सुनवाई के लिए कोई अफसर मौजूद नहीं रहता है। ऐसे में प्रत्येक थाने में हेड कांस्टेबल से लेकर दारोगा की ड्यूटी निर्धारित की जाए, जो 24 घंटे थाने में आने वाले पीड़ितों की सुनवाई करने के साथ ही उनकी समस्या का निस्तारण करें। कोरोना महामारी के फिर से बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एडीजी ने कहा कि पुलिस कर्मियों के साथ ही अफसरों को दूसरी डोज की कार्रवाई को तत्काल पूरा कराया जाए। चुनाव से पहले कोई भी शेष नहीं रहना चाहिए। निरोधात्मक कार्रवाई के दौरान पूरी तरह संबंधित व्यक्ति का सत्यापन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अक्सर पुलिस कर्मी पुरानी सूचियों के आधार पर निरोधात्मक कार्रवाई कर देते हैं,जो उचित नहीं है। उच्च अधिकारी स्वयं इसकी समीक्षा करेंगे। पुलिस लाइन में बैठक समाप्त होने के बाद एडीजी ने दिल्ली रोड के डीपीएस स्कूल के साथ ही कृष्णा बाल विद्या मंदिर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने क्षेत्राधिकारियों से कहा कि समय-समय पर वह फोर्स के ठहरने के स्थान का भ्रमण करने के साथ ही वहां की व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखेंगे। इस दौरान डीआइजी शलभ माथुर,एसएसपी बबलू कुमार के साथ ही सभी पुलिस अधिकारी और सीओ मौजूद रहे।

 

Edited By: Narendra Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट