जागरण संवाददाता, मुरादाबाद। PM Modi Gifted Carving Matka to German Chancellor : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-7 सम्मेलन की समाप्ति के बाद देश की हस्तशिल्प कला के उत्पादों को सम्मेलन में आए राष्ट्राध्यक्षों को उपहार स्वरूप भेंट किए। इसके जरिए उन्होंने जी-7 सम्मेलन में आए राष्ट्राध्यक्षों को भारतीय हस्तशिल्प कला का प्रशंसक बना लिया। इसमें जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले की प्रसिद्ध दस्ताकारी से तैयार नक्काशी वाला भेंट किया है।

इस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया है। ट्वीट करके उन्होंने लिखा है- प्रधानमंत्री द्वारा जर्मन चांसलर मुरादाबाद की अद्भुत कलाकृति भेंट करना पूरे प्रदेश के लिए गौरव का विषय है। जर्मन चांसलर को जो मटका प्रधानमंत्री ने भेंट किया है वह मटका राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता मुरादाबाद के दिलशाद हुसैन ने तैयार किया है।

दिलशाद ने बताया कि तीन जून को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में हुए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरिमनी कार्यक्रम में नक्काशी का लाइव प्रदर्शन करने के लिए उन्हें बुलाया गया था। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे प्रदर्शनी का अवलोकन करते समय उनके स्टॉल पर भी आए थे और वहां पीतल के बने आइटम देखे। इस दौरान उन्होंने वहां रखे नक्काशी वाले मटके देखे और उनके बारे में जानकारी भी ली थी। मटके उन्हें काफी पसंद आए।

करीब दो हफ्ते पहले उनके पास उपायुक्त उद्योग अनुज कुमार का फोन आया था और मटकों के बारे में जानकारी मांगी थी। पूछा घड़े उपलब्ध हो पाएंगे। उन्होंने बताया कि मेरे पास प्रदर्शनी में सजाने की लिए तैयार किया हुआ मटका रखा हुआ था, जो उन्हें भेज दिया। उपयुक्त द्वारा मटका लखनऊ शासन को भेजा गया। शासन ने उस मटके को प्रधानमंत्री कार्यालय पहुंचा दिया अब पता चला है कि वह मटका प्रधानमंत्री ने जर्मन चांसलर को उपहार में भेंट किया है। यह जानकारी मिलने के बाद बहुत अधिक खुशी हो रही है, जिसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी द्वारा जर्मन चांसलर को मुरादाबाद की कृति भेंट करने को प्रदेश के लिए गौरव का विषय बताया है। उन्होंने ट्वीट करके वैश्विक पटल पर मुरादाबाद की चमक बिखेरने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया है।

Edited By: Samanvay Pandey