मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Thakurdwara PRV Muzaffarnagar Fake police personnel Inquiry : फर्जी नौकरी से पुलिस व‍िभाग की आंखों में धूल झोंकने वाले जीजा और साले में काफी अच्‍छी तालमेल रही है। दोनों मेें काफी अच्‍छी दोस्‍ती भी रही है। अन‍िल ने जब सुनील को पुलिस व‍िभाग में फर्जी नौकरी से नवाजा तो सुनील बेहद खुश हो गया। इस फर्जीवाड़े के अंजाम से बेखबर सुनील ने इसी खुशी में अपनी बहन का र‍िश्‍ता अन‍िल के साथ तय कर द‍िया था। इस र‍िश्‍ते के बाद दोनों दोस्‍त से जीजा और साले बन गए।

पीटीएस मुरादाबाद में तीन माह तक की ट्रेनिंग : मुजफ्फरनगर के खतौला थाना क्षेत्र के दाहोड़ गांव निवासी सिपाही अनिल कुमार का चयन साल 2011 के बैच में हुआ था। इसके बाद छह माह की ट्रेनिंग बरेली पुलिस लाइन में करने के बाद उसने परीक्षा में भाग नहीं लिया था। जिसके बाद वह फेल गया था। इसके बाद तीन माह के प्रशिक्षण के लिए पीटीएस मुरादाबाद भेजा गया था। लेकिन यहां पर भी एक विषय में फेल होने के बाद उसे गोरखपुर पीएसी में प्रशिक्षण के लिए भेजा गया था। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यहीं से पास होने के बाद पहली पोस्टिंग बरेली में मिली थी। इसके बाद उसे साल 2016 में मुरादाबाद स्थानांतरित कर दिया गया था। मुरादाबाद आने के बाद आरोपित अनिल ने अपने दोस्त सुनील से मुलाकात करके पीआरपी में ड्यूटी ज्वाइन कराई थी। पुलिस की वर्दी पहनने से खुश होकर सुनील ने अपनी बहन का रिश्ता अनिल के साथ कर दिया था। इसके बाद दोनों जीजा और साला बन गए। दोनों आरोप‍ितों को ही इसका अंदाजा नहीं था क‍ि वे इस तरह बेनकाब हो जाएंगे। फ‍िलहाल मामले की जांच जारी है, दोनों के इस बड़े फजीवाड़े का खाम‍ियाजा अब पूरे पर‍िवार को भुगतना पड़ रहा है। भले की दोनों जेल भेज द‍िए गए हैं लेकिन उनके पर‍िवार के लोग उनके इस करतूत से शर्मसार नजर आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें :-

Fraud in UP Police : जीजा की जगह पुलिस की नौकरी करने वाला साला गिरफ्तार, दोनों आरोप‍ितों को भेजा जेल

रामपुर में बिन ब्याही मां ने बच्ची को दिलाया पिता का नाम, पहले से शादीशुदा प्रेमी से क‍िया न‍िकाह, पढ़ें पूरा मामला

Fraud in UP Police : वर्दी पहनकर पीआरवी कर्मियों के प्रशिक्षण में भाग लेने पहुंचा था फर्जी सिपाही

Health Benefits Of Gular: गूलर नेत्र रोग, मधुमेह, डायरिया सहित कई बीमारियों में लाभकारी

Edited By: Narendra Kumar