रामपुर (मुस्लेमीन)। पुलिस प्रशासन की सख्ती के चलते सांसद आजम खां के करीबी रामपुर छोड़ गए हैं। कई तो ऐसे हैं जो महीनेभर से गायब हैं और ईद मनाने भी रामपुर नहीं आए। इनके खिलाफ पुलिस ने महीनेभर में दस-दस मुकदमे दर्ज किए हैं। रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही इनके घरों पर भारी पुलिस फोर्स के साथ छापेमारी भी की गई। पुलिस के डर से ये लोग घर छोड़ गए हैं। आजम खां के करीबी रहे पूर्व सीओ सिटी आलेहसन खां पर तो पुलिस ने जमीनें कब्जाने, मकान तोडऩे व लूटपाट के 39 मुकदमे दर्ज किए हैं। उनका लुक आउट नोटिस भी जारी कर दिया है। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छापेमारी भी की। दबिश के दौरान विरोध करने पर इनके बेटे को गिरफ्तार कर लिया था,जो कोर्ट से  जमानत पर छूट गया।  इनकी पत्नी को भी मुकदमे में नामजद किया गया है। इनके अलावा पालिकाध्यक्ष पति अजहर खां के खिलाफ धोखाधड़ी, मकान  तोडऩे  व लूटपाट करने के  आरोप में एक दर्जन मुकदमे दर्ज हुए हैं। आजम खां के मीडिया प्रभारी शानू खां पर पुलिस ने गुंडा एक्ट लगा दिया है।  जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष सलीम कासिम को पुलिस ने एक मामले में गिरफ्तार भी कर लिया था। 

पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अजय पाल शर्मा का कहना है कि अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें बनाई गई हैं, जो लगातार दबिश दे रही हैं । जिले के अलावा इलाहाबाद, बुलंदशहर, अलीगढ़ में भी दबिश दी गई है, लेकिन हाथ नहीं आ सके हैं। अगर ये लोग पकड़ में नहीं आएंगे तो इनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कराए जाएंगे। इसके बाद कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस