मुरादाबाद : महानगर के सभी 70 वार्डो में समस्याओं के निस्तारण में लापरवाही को लेकर लोग परेशान हैं। नगर निगम अफसरों के चक्कर लगाने और मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराने के बाद भी नगर निगम ध्यान नहीं दे रहा है। हर व्यक्ति की पहुंच नगर निगम अफसर व जनप्रतिनिधियों तक नहीं हैं। यही वजह है कि समस्याएं सालों से जस की तस हैं। इस बात को ध्यान में रखकर दैनिक जागरण कार्यालय में पाठक पैनल बुलाया गया। महानगर के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने नगर निगम के सहायक अभियंता एवं स्वास्थ्य नगर अधिकारी मनोज गुप्ता और मुख्य सफाई निरीक्षक दिलशाद के सामने समस्याएं रखीं। सड़क निर्माण, सफाई, प्रकाश व पेयजल की खराब व्यवस्था को उठाया। संपादकीय प्रभारी संजय मिश्र ने कहा कि सप्ताह में एक बार भी सफाई कर्मी एक क्षेत्र में जाकर सफाई कर दें तो गंदगी नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि गंदगी के लिए नागरिक भी जिम्मेदार हैं। अपने घर के आसपास सफाई रखना हमारा भी कर्तव्य है। महाप्रबंधक अनिल अग्रवाल ने भी स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। बंसत विहार में 19 साल से नहीं बनी सड़क

वार्ड-एक की बसंत विहार कालोनी में गली संख्या छह में सड़क नहीं बनाने का मुद्दा उठा। जबकि, इस गली के अलावा एक से आठ तक सभी सड़कें बन चुकी हैं। इस कालोनी के एक दर्जन लोगों ने दैनिक जागरण के पाठक पैनल में यह समस्या उठाई। रितेश यादव ने कहा कि टैक्स देने के बाद भी सड़क नहीं बन रही है। मुख्यमंत्री के पोर्टल पर भी कई बार शिकायत की जा चुकी है। सहायक अभियंता मनोज गुप्ता व मुख्य सफाई निरीक्षक दिलशाद ने नोट करके समस्या का निस्तारण कराने का आश्वासन दिया। पाठक पैनल में इस कालोनी के सोमपाल सिंह, अनीता देवी, शर्मिला यादव, अनीता देवी, लालता प्रसाद, लोकेंद्र, सुषमा यादव, महेश चंद्र, राहुल, देवेंद्र, राजेंद्र यादव, अजय शर्मा, महेश शर्मा, अमित शर्मा, भगवानदास सिंह, सुनीता देवी, गीता शर्मा, पूनम शर्मा मौजूद रहे। सत्य विहार मीरपुर में सड़क, सफाई व स्ट्रीट लाइट खराब

सत्य विहार मीरपुर से आए अनिल सूरी ने इस कालोनी की टूटी सड़क व खराब स्ट्रीट लाइट का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मी अभद्रता करते हैं और कहते हैं कि क्या तुमको योगी जी की सभा बुलानी है। इस बात को सहायक अभियंता ने गंभीरता लेते हुए निस्तारण का आश्वासन दिया। निस्तारण का दिया आश्वासन

ढक्का स्थित कृषि विभाग के पास सड़क नहीं बनाए जाने का मुद्दा विजय कुमार शर्मा ने उठाया। इन्होंने कहा कि पोर्टल पर शिकायत की निस्तारण रिपोर्ट झूठी लगाई गई है। करीब सौ परिवार जलभराव से जूझ रहे हैं। नगर निगम अधिकारी सुनने को तैयार नहीं हैं। सहायक अभियंता ने निस्तारण का आश्वासन दिया। रामगंगा विहार विस्तार में नहीं आते सफाई कर्मचारी

रामगंगा विहार विस्तार में सफाई कर्मचारी नहीं आते। शिल्पी अग्रवाल ने कहा नालियां पूरी तरह चोक हैं। अपने दरवाजे के आगे स्वयं सफाई कर सकते हैं, लेकिन नालियों की सफाई तो नगर निगम को करानी चाहिए। कपिल अग्रवाल ने कहा कि नालियों में घास जम गई है। पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई पर कोई नहीं आया।

पाठक पैनल में यह भी समस्याएं उठीं

धवल दीक्षित ने कहा कि आवास विकास कालोनी में 50 साल पुरानी सीवर लाइन है जो चोक हो चुकी है। उसे बदलकर नई बिछाई जाए। उन्होंने प्रतिष्ठित लोगों की स्वच्छता समिति बनाने पर जोर दिया। आशीष त्रिवेदी ने कहा कि 84 घंटा मंदिर क्षेत्र में तीन सफाई कर्मचारी हैं। एक कूड़ा निकलता है तो उठाने दूसरे सफाई नायक के अंडर में काम करने वाला आता है। एक ही सफाई नायक के अंडर में कर्मचारी होने चाहिए। नालियों पर स्लैब डालने व गंदगी करने वालों का चालान काटने का सुझाव दिया। विपिन गुप्ता ने बाजार में अतिक्रमण हटाए जाने का सुझाव दिया। जिस पर सहायक अभियंता ने निस्तारण का आश्वासन दिया।

Posted By: Jagran