मुरादाबाद, जेएनएन : लक्सर-हरिद्वार रेलमार्ग के दोहरीकरण का काम 11 अक्टूबर की बजाए अब 13 अक्टूबर से शुरू होगा। गुरुवार सुबह उत्तर रेलवे मुख्यालय से अगले आदेश तक दोहरीकरण के काम पर रोक लगाने का आदेश मिला। शाम को नया आदेश आया कि अब काम 13 से 22 अक्टूबर तक किया जाए। इसके साथ ही 600 कर्मियों को लक्सर व हरिद्वार में रहने का आदेश दिए हैं।

19 जोड़ी ट्रेन को निरस्त किया जाना था

रेल मंत्रालय से लगातार हरिद्वार-लक्सर के बीच दोहरीकरण का काम शीघ्र कराने का दबाव है। रेल प्रशासन ने नौ अक्टूबर से हरिद्वार लक्सर के बीच पांच में से तीन स्टेशनों पर दोहरीकरण का काम शुरू करने की घोषणा की थी। यह काम 18 अक्टूबर तक चलना था। इस दौरान देहरादून-हरिद्वार मार्ग पर चलने वाली 19 जोड़ी ट्रेन को निरस्त किया जाना था और 14 जोड़ी ट्रेन को बीच रास्ते तक चलाया जाना था।

सत्ताधारी नेता के बेटे की 14 अक्टूबर को शादी की चर्चा

बाद में मंडल रेल प्रशासन ने कमिश्नर रेलवे आफ सेफ्टी (सीआरएस) के बाहर होने का कारण बताकर नौ के बजाय 11 अक्टूबर से दोहरीकरण कराने की घोषणा की गई है। वहीं समय बढ़ाए जाने के पीछे उत्तराखंड के एक सत्ताधारी नेता के बेटे की 14 अक्टूबर को शादी की चर्चा रेल कर्मियों में है। समारोह हरिद्वार में होना है। इसमें भाग लेने देश के विभिन्न क्षेत्रों से मेहमानों को आना है। उनको आने और जाने में परेशानी नहीं हो, इसका ख्याल रखा गया है लेकिन, इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी।

कुछ ट्रेनों को बीच रास्ते तक चलाया जाएगा

मंडल रेल प्रबंधक तरुण प्रकाश ने बताया कि लक्सर-हरिद्वार के बीच दोहरीकरण का काम अब 13 अक्टूबर से होगा। दोहरीकरण के काम में लगे छह सौ कर्मियों को लक्सर व हरिद्वार में रहने का आदेश दिया गया है। इस कार्य के चलते 13 से 22 अक्टूबर तक 11 जोड़ी ट्रेनें निरस्त रहेंगी। कुछ ट्रेनों को बीच रास्ते तक चलाया जाएगा।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप