सम्भल ।शहर में कहीं कोई पार्किंग स्थल नहीं है। जिससे शहर के मुख्य बाजारों में दिन भर जाम की स्थिति रहती है। शहर की सड़कों के साथ ही जिला अस्पताल में वाहनों को खड़ा कर दिया जाता है। लोगों को जाम में फंस कर परेशानियों का सामना करना पड़ता है। स्कूली बच्चों और छात्राओं को जाम में फंस कर काफी मुसीबत झेलनी पड़ती है। आलम ये है कि नगर के बाजारों में जाम लगना लाजिमी है। यहां ई-रिक्शाओं, बाइकों और चार चौपहिया वाहनों की वजह से दिन भी जाम लगता है। एक भी पार्किंग स्थल न होने की वजह से लोग अपनी बाइकें आदि बाजारों में इधर-उधर और बेतरतीब ढंग से खड़ी कर देते हैं।

जिला प्रशासन भी नहीं दे रहा ध्‍यान 

शहर में आने जाने तथा रहने वालों के लिए जाम स्थायी समस्या बन गई है। समस्या से शहर का कोई हिस्सा अछूता नहीं रह गया है। हालांकि, शासन प्रशासन कई बार शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए प्रयास कर चुका है, लेकिन हर बार चार दिन की चांदनी फिर अंधेरी रात वाली कहावत चरितार्थ होती दिखती है। दैनिक जागरण की टीम ने शुक्रवार को शहर का जायजा लिया। जिला अस्पताल में कई बाहरी निजी वाहन खड़े नजर आए। इतना ही नहीं शंकर चौराहे से लेकर यशोदा चौराहे तक अतिक्रमण फैला था। वाहन तो छोडि़ए लोगों का पैदल निकलना मुश्किल हो रहा था। वहीं सूरज प्लाजा के पीछे व मुरादाबाद रोड पर सड़क किनारे वाहन खड़े थे। ऐसा ही नजारा चौधरी सराय में देखने को मिला। यहां भी वाहन सड़कों के किनारे खड़े नजर आए। वाहन स्वामियों का कहना था कि अगर वाहन पार्क करना है तो करें कहां। यहां कोई जगह ही नहीं है। वहीं एसडीएम राजेश कुमार का कहना है कि जल्द ही शहर में पार्किग की व्यवस्था की जाएगी। जिससे जाम की समस्या से छुटकारा मिल सके।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस