मुरादाबाद, जेएनएन। Coach Indicator on Moradabad Railway Station : प्लेटफार्म पर कोच इंडिकेटर नहीं चलने से यात्रियों को कोच खोजने के लिए भाग दौड़ करनी पड़ती है। कर्मचारियों की लापरवाही के कारण कई बार यात्रियों की ट्रेन छूट जाती है। यात्रियों ने इसको लेकर शिकायत भी दर्ज कराई है। इसके बाद भी रेलवे अधिकारी दोषी कर्मचारी के विरुद्ध कार्रवाई नहीं करते हैं। रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए सभी प्रमुख स्टेशनों के प्लेटफार्मों पर कोच इंडिकेटर बोर्ड लगाया है। ट्रेन आने की घोषणा के साथ ही किस नंबर का कोच किस स्थान पर आएगा, इंडिकेटर पर आना शुरू हो जाता है। इसकी सूचना के आधार पर यात्री अपने कोच के आने वाले स्थान पर खडे़ हो जाते है।इससे ट्रेन आने पर यात्रियों को कोच खोजने के लिए भाग दौड़ नहीं करना पड़ती है और ट्रेन भी नहीं छूटती है।

मुरादाबाद स्टेशन के सभी प्लेटफार्म पर कोच इंडिकेटर लगेे हैंं। ट्रेन आने की सूचना पावर कंट्रोल में तैनात कर्मचारी कोच की स्थिति कम्प्यूटर में भरते हैं और घोषणा के साथ ही कोच की स्थिति की जानकारी देते हैंं। मंगलवार की रात 11.50 बजे काठगोदाम से जैसलमेर जाने वाली रानी खेत एक्सप्रेस की प्लेटफार्म संख्या पांच पर आने की घोषणा करना शुरू की गई। ट्रेन रात 12.03 बजे प्लेटफार्म पर आकर खड़ी हो गई, लेकिन कोच से संबंधित सूचना नहीं दी गई। यात्रियों को कोच के लिए परेशानी का सामना करना पड़ा।

इस तरह की समस्याओं को सामना अन्य ट्रेनों के यात्रियों को भी करना पड़ता है। बताया जाता है कि कर्मचारी लापरवाही के कारण कम्प्यूटर में कोच संख्या नहीं भरतेे हैं। कई बार तो दूसरे रेल मंडल से कोच की स्थिति नहीं भेजी जाती है। इसलिए मुरादाबाद में कोच की स्थिति पता नहीं चल पाती है। मंडल वाणिज्य प्रबंधक गौरव दीक्षित ने बताया कि मामले की जांच कराई जाएगी और दोषी पाए जाने पर कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Samanvay Pandey