रामपुर(मुस्लेमीन)। कभी खुद को साफ पाक बताने वाले आजम खां पर अब संगीन आरोप लग रहे हैं। पहले भू-माफिया का तो बाद में किताबें चोरी करने का दाग लगा। अब डकैती, भैंस चोरी और हत्या के आरोपों में भी 65 मुकदमे दर्ज हो गए हैं। उनके विरोधी कह रहे हैं कि आजम की सच्चाई सामने आ गई है, जबकि उनके समर्थक इसे सियासी चश्मे से देख रहे हैं। कहते हैं कि सब राजनीति से प्रेरित है। उनके विरोधी अब यूनिवर्सिटी को सील करने और आजम की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

दो माह पहले संसद में दिया था भाषण

आजम ने दो माह पहले ही लोकसभा में अपना पहला भाषण दिया, जिसमें कहा था कि मैं इस सदन से कहना चाहता हूं कि मेरे पूरे राजनीतिक जीवन में अगर सुई के नोक के बराबर भी कहीं बेईमानी, रिश्वत और कोई भ्रष्टाचार या व्यक्तिगत रूप से किसी के साथ कोई ज्यादती सरकारी कलम से की गई हो तो मैं अभी इसी समय इस सदन को छोडऩे का ऐलान करता हूं। मैंने बहुत साफ सुथरी ङ्क्षजदगी गुजारी है, वर्ना इतना लंबा राजनीतिक सफर तय करने के बाद देश की सबसे बड़ी अदालत में खड़ा हुआ न होता। इसके बाद से उनके दामन पर कई दाग लग गए हैं। 

जमीन कब्जाने के 30 मुकदमे

12 जुलाई को उनके खिलाफ प्रशासन की ओर से किसानों की जमीनें कब्जाने का मुकदमा दर्ज किया गया। इसके बाद 26 किसानों ने अलग-अलग अजीमनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया, जिसमें कहा कि आजम खां ने जबरन उनकी जमीन कब्जा कर यूनिवर्सिटी में मिला ली। कस्टोडियन की जमीन कब्जाने में भी उनके खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हुए हैं। इसके अलावा लोगों के मकानों पर बुल्डोजर चलवाने, घरों का सामान लूटने, गैर इरादतन महिला की हत्या और हत्या के प्रयास के आरोप में भी उनके खिलाफ पांच मुकदमे 29 अगस्त को दर्ज किए गए। 

पत्नी और बेटे पर भी मुकदमे

उनकी पत्नी राज्यसभा सदस्य डॉ. तजीन फात्मा, बेटे विधायक अब्दुल्ला के खिलाफ भी कई मुकदमे दर्ज हुए हैं। बड़े भाई सेवानिवृत इंजीनियर शरीफ खां और उनके बेटे बिलाल पर भी हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज हो गया। शुक्रवार को उनकी बड़ी बहन निकहत अफलाख को पूछताछ के लिए पकड़ लिया गया। वह जौहर ट्रस्ट की कोषाध्यक्ष हैं और यह ट्रस्ट ही जौहर यूनिवर्सिटी को चलाता है।  

माफी भी मांगनी पड़ी

लोकसभा में महिला स्पीकर पर अशोभनीय टिप्पणी करने के मामले में भी आजम को माफी भी मांगनी पड़ी। हालांकि आजम ने उन्हें अपनी बहन की तरह भी बताया। इसके अगले दिन ही पुलिस ने उनकी यूनिवर्सिटी पर छापा मार दिया। मदरसा आलिया से चोरी हुई ढाई हजार किताबें जौहर यूनिवर्सिटी से बरामद हुई थीं। इसमें आजम खां का नाम भी किताबें चोरी के मुकदमे में शामिल गया है। 

सांसद आजम खां के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। उनकी बहन से पूछताछ की जा रही है। पता लगाया जा रहा है कि जौहर ट्रस्ट के किस अकाउंट से जमीन के कितने रुपये किस किसान को दिए गए। आजम खां की गिरफ्तारी भी संभव है।  

डॉ. अजय पाल शर्मा, पुलिस अधीक्षक 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस