मुरादाबाद, जेएनएन। New variant of corona Omicron is not caught by RTPCR test :  नया वेरिएंट ओमिक्रोन से संक्रमित व्यक्ति को भूख नहीं लगती है और शरीर में थकावट व कमजोरी महसूस होती है। खांसी-बुखार जुकाम के कोई लक्षण दिखाई नहीं देते, बल्कि वह सामान्य दिखाई देता है। आरटीपीसीआर जांच कराने पर भी ओमिक्रोन संक्रमण का पता नहीं चलता है। जीनोम सिक्वेंसिंग कराने पर ही यह पकड़ में आता है। एसीएमओ डा. गोपीलाल ने इससे बचने के लिए सावधानी ही सबसे बड़ा हथियार बताया है।

काेरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रोन ने विदेश के बाद भारत में भी दस्तक दे दी है। महाराष्ट्र, कर्नाटक, दिल्ली, मध्य प्रदेश और राजस्थान में अभी तक 47 व्यक्ति इसकी चपेट में आ चुके हैं। इन सबकी जीनोम सिक्वेसिंग कराने पर पुष्टि हुई। एसीएमओ डा. गोपीलाल ने बताया है कि यह नया वेरिंएंट विदेश से आए लोगों के साथ ही यहां आया है। सतर्कता के मद्देनजर विदेश से लौटने वाले लोगों की हवाई अड्डों पर ही आरटीपीसीआर जांच कराई जा रही है, लेकिन नया वेरिएंट ओमिक्रोन इस जांच में पकड़ में नहीं आ रहा है। इससे संक्रमित व्यक्ति में खांसी-बुखार और जुकाम के कोई लक्षण नहीं दिखाई देते।

जिससे उनको घर जाने दिया जाता है। जिनोम जांच में ही इसका पता चलता है। बताया आरटीपीसीआर जांच में जो व्यक्ति संदिग्ध लगता है उसकी ही जिनोम जांच कराई जाती है। हालांकि प्रदेश में अभी कोई केस नहीं निकला है। एसीएमओ ने बताया कि अगर लापरवाही बरती तो लोगों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। उन्होंने इससे बचने के लिए सभी को कोरोना गाइडलाइन अपनाने की अपील की।

ओमिक्रोन संक्रमित के लक्षण

-संक्रमित व्यक्ति को भूख कम लगती है।

-व्यक्ति थकावट और शरीर में कमजोरी महसूस करता है।

-बदन दर्द व तेज सिर दर्द।

कैसे करें बचाव

-कोरोना गाइडलाइन का पालन करें।

-मुहं पर मास्क लगाकर एक दूसरे से शारीरिक दूरी बनाएं रखें।

-बाजार व भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करें।

-किसी समारोह या बाजार में जाने पर मास्क का प्रयोग करें।

-बाहर से आने पर हाथ-मुंह को साबुन व सैनिटाइजर से साफ करें।

Edited By: Samanvay Pandey