मुरादाबाद। अब मदरसों में भी स्मार्ट क्लास चलाने की कवायद शुरू हुई है। प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत मदरसों में स्मार्ट कक्षाएं चलाई जाएंगी। मदरसों में पढऩे वाले छात्रों को कंप्यूटर कोर्स की शिक्षा दी जाएगी। बेसिक और माध्यमिक शिक्षा की तरह अब मदरसों में भी स्मार्ट क्लास संचालित होंगी। प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तहत मदरसे में एक स्मार्ट क्लास चलाने के लिए दो लाख 54 हजार रुपये खर्च होंगे। इससे मदरसों में वेब कैमरा, प्रोजेक्टर और कंप्यूटर सिस्टम लगाए जाएंगे। मदरसों में कंप्यूटर कोर्स की कक्षाएं चलेंगी। इसके साथ ही वेब कैमरे से प्रोजेक्टर पर अन्य विषयों की पढ़ाई छात्र कर सकेंगे। कंप्यूटर और प्रोजेक्टर के माध्यम से मदरसों में पढऩे वाले छात्रों को हाईटेक बनाया जाएगा। मदरसों में स्मार्ट क्लास चलाने के लिए शासन ने अल्पसंख्यक विभाग से राज्य अनुदानित मदरसों की सूची मांगी थी। इसके अनुपालन में चार मदरसों का नाम शासन को अल्पसंख्यक विभाग ने भेजा है। एक मदरसे में दो स्मार्ट क्लास चलाने की तैयारी है। मदरसों में अभी तक छात्रों को कंप्यूटर कोर्स नहीं पढ़ाया जाता है। 

इन मदरसों में चलेंगी स्मार्ट क्लास 

अरबिया इंदादिया (चौराहा गली, मुरादाबाद), जामे उल हुदा (गलशहीद), जामिया फारूकिया अजीज उल उलूम (भोजपुर) एवं दर्सगाहे आलिया इस्लामिया (शरीफ नगर ठाकुरद्वारा)। 

शासन की स्वीकृति का इंतजार

वफ्फ इंस्पेक्टर मोमिन हसन का कहना है कि शासन ने मदरसों को आधुनिक बनाने की पहल की है। अभी तक मदरसे के छात्रों को वेब कैमरे के माध्यम से प्रोजेक्टर पर शिक्षा नहीं मिल रही थी। कंप्यूटर कोर्स भी नहीं पढ़ाया जाता था। शासन की स्वीकृति मिलते ही मदरसों में स्मार्ट क्लास संचालित होंगी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021