मुरादाबाद, जेएनएन। Noise Pollution Increased Revenue of Transport Department :  मुरादाबाद समेत पूरे उत्तर प्रदेश में ध्वनि प्रदूषण ने परिवहन विभाग के राजस्व में काफी बढ़ोतरी की है। चौंक गए न यह सोचकर कि प्रदूषण कैसे राजस्व में बढ़ोतरी करा सकता है। ताेे आइये इसके बारे में जानते हैं कि ये कैसे हुआ। दरअसल परिवहन विभाग ने ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए चेकिंग अभियान चला रखा है। तेज ध्वनि व डरावनी आवाज निकालने वाले साइलेंसर लगाकर चलने वाले वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। जिससे परिवहन विभाग के राजस्व में वृद्धि हो रही है।

वायु प्रदूषण के बाद अब ध्वनि प्रदूषण वाले वाहन मालकों पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश जारी किया गया है। कुछ मोटर साइकिल चालकों ने कंपनी द्वारा लगाए गए साइलेंसर को हटा दिया है और उसके स्थान पर तेज आवाज व डराने वाली आवाज निकलने वालेे साइलेंसर लगा रखेे हैंं। इसकी ध्वनि से वायु प्रदूषण होता है और तेज व डरावनी आवाज से अगल-बगल वाले वाहन चालक डर जाते हैं। इससे दुर्घटना होने की अधिक संभावना होती है। इसी तरह से ट्रेन व बस संचालक प्रेशर हार्न लगाकर चलते हैं। कुछ चालकों ने गाड़ी में हूूटर लगा रखा है और शहर के अंदर हूूटर की तेज आवाज करने के साथ तेज गति से गाड़ी चलाते हैंं।

शासन के सख्त आदेश के बाद अक्टूबर में परिवहन विभाग इसके खिलाफ अभियान चलाया। मुरादाबाद मंडल में ध्वनि प्रदूषण वाले 163 वाहनों को परिवहन विभाग की प्रवर्तन टीम ने पकड़ा। जिसमें मुरादाबाद जिले में पांच तेज ध्वनि वाले साइलेंसर और 15 प्रेशर हार्न वाले वाहनों को पक़ड़ा। इसी तरह से अमरोहा में 27 प्रेशर हार्न और 19 साइलेंसर वाले वाहन, बिजनौर में 20 प्रेशर हार्न व दो साइलेंसर वाले वाहन, रामपुर में पांच प्रेशर हार्न व 11 साइलेंसर वाहन और सम्भल में 25 प्रेशर हार्न व सात साइलेंसर वाले वाहनों को पकड़ा है। जिससे 4.72 लाख रुपये जुर्माना का वसूली कर चुके हैं। जिससे परिवहन विभाग के राजस्व में वृद्धि हो रही है।

संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन) एसके सिंह ने बताया कि ध्वनि प्रदूषण को रोकने के लिए लगातार चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें 163 वाहनों को चालन किया गया, जिससे 4.72 लाख रुपये राजस्व की वसूली की गई। साथ ही पकड़े गए वाहनो चालकों को नोटिस देने के साथ चेतावनी दी है और कहा कि दोबारा ध्वनि प्रदूषण वाले यंत्र लगाकर गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाने पर पंजीयन निरस्त करने की कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Samanvay Pandey