मुरादाबाद, जेएनएन। Night Curfew in Moradabad : कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से निपटने के लिए शासन से लेकर स्थानीय प्रशासन तक अलर्ट मोड पर है। उत्तर प्रदेश शासन ने जहां सभी जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाने के निर्देश दिए हैं वहीं स्थानीय प्रशासन ने अस्पतालों में अपनी व्यवस्था दुरुस्त कर दी हैं। नाइट कर्फ्यू के साथ ही शादी समारोह या अन्य आयोजन में 200 लोगों की भागीदारी की अनुमति दी गई है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में आक्सीजन की दुश्वारी का सामना अधिकतर लोगों ने किया। लेकिन, अब जिला अस्पताल में आक्सीजन की वजह से किसी भी मरीज को वापस नहीं किया जा सकेगा। अस्पताल के 80 बेड पर आक्सीजन पाइप लाइन की व्यवस्था हो चुकी है।

पावर कारपोरेशन द्वारा 140 बेड पर आक्सीजन पाइपलाइन की व्यवस्था के लिए पत्र भेजा गया है। जिला अस्पताल में एक हजार लीटर प्रति मिनट आक्सीजन आपूर्ति का प्लांट शुरू हो चुका है। जिला अस्पताल आक्सीजन को लेकर खुद पर निर्भर हो चुका है। अब वह अपने मरीजों को भरपूर आक्सीजन की व्यवस्था खुद कर सकता है। अभी जिला अस्पताल में 80 बेड पर आक्सीजन पाइपलाइन बिछाई जा चुकी है। सभी बेड पर आक्सीजन की आपूर्ति को शनिवार को चेक किया जाएगा। इसके अतिरिक्त शासन स्तर से पावर कारपोरेशन को 140 बेड पर आक्सीजन पाइपलाइन का निर्देश मिला था।

पावर कारपोरेशन के अधिकारियों ने जिला अस्पताल में सर्वे भी कर लिया था। दो माह से ज्यादा बीतने के बाद भी कोई नहीं पहुंचा है। इसको लेकर जिला अस्पताल प्रबंधन की ओर से गुरुवार को पावर कारपोरेशन को पत्र भेजा गया है। जिससे उनके हिस्से के 140 बेड पर आक्सीजन की पाइपलाइन बिछाने का काम हो सके। यह काम पूरा होने के बाद जिला अस्पताल में ही 220 आक्सीजन बेड की व्यवस्था हो जाएगी।

मुरादाबाद जिला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेंद्र कुमार ने बताया कि जिला अस्पताल में 80 बेड पर आक्सीजन की व्यवस्था हो चुकी है। इसके अलावा 140 बेड के लिए पावर कारपोरेशन को लाइन बिछाने के लिए रिमाइंडर पत्र भेजा गया है। इसके बाद हमारें यहां मरीजों के लिए पूरी व्यवस्था हो जाएगी। 

Edited By: Samanvay Pandey