ठाकुरद्वारा, जासं: पति से प्रताड़ित महिला कोतवाली पहुंची तो पुलिसकर्मी ने प्रेमजाल में फंसाकर दुष्कर्म किया। सिपाही से शादी के झासे में आकर महिला ने रजामंदी से पति से संबंध विच्छेद कर लिया लेकिन, बाद में पुलिसकर्मी ने भी साथ छोड़ दिया। पांच माह बाद महिला ने सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

नगर के एक मुहल्ला निवासी महिला को पति प्रताड़ित करता था। करीब एक वर्ष पूर्व वह प्रार्थनापत्र लेकर कोतवाली पहुंची तो कोतवाली में तैनात अविवाहित पुलिसकर्मी अक्रांत बक्श ने प्रार्थनापत्र लेकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। महिला का आरोप है कि प्रार्थनापत्र से नंबर लेकर अक्रात उससे मोबाइल फोन पर संपर्क करने लगा। बाद में प्रेमजाल में फंसाकर पति से संबंध विच्छेद कर शादी करने का प्रस्ताव रखा। झांसे में आकर उसने पति से संबंध समाप्त कर लिए। इस दौरान उसने महिला के साथ कई बार दुष्कर्म किया। उसने अक्रात से शादी के लिए कहा तो वह टालमटोल करने लगा। जून में उसने विवाह करने से स्पष्ट मना कर दिया। कार्रवाई करने पर जान से मारने की धमकी दी। कोतवाली में तहरीर दी लेकिन, मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। एसएसपी के संज्ञान में प्रकरण आने पर शनिवार को कोतवाली में सिपाही अक्रात बक्श के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर किया गया।

महिला की शिकायत पर सिपाही के खिलाफ उचित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जाच की जा रही है। जाच में दोषी मिलने पर कानूनी और विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

-डा. अनूप सिंह, सीओ, ठाकुरद्वारा

-----------------

खाकी के गुनाह छिपाने में जुटी रही पुलिस

ठाकुरद्वारा, जासं: पीड़ित महिला का दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करने की बजाय पुलिस सिपाही के गुनाह छिपाने में लगी रही। सिपाही ने महिला से कई बार दुष्कर्म किया। जून में पीड़िता ने सिपाही के खिलाफ कोतवाली में पहली तहरीर दी। तत्कालीन कोतवाल ने कानूनी कार्रवाई नहीं की बल्कि कई पुलिसकर्मी समझौते का दबाव बनाने लगे। उसकी खाते में बिना उसकी मर्जी के पैसे भी डलवाए एग। इसके बाद महिला थाने में वीडियोग्राफी की। उसके विरोध करने पर पुलिसकर्मी ने थप्पड़ से पिटाई की। हालांकि इसके बाद भी महिला ने हार नहीं मानी और एसएसपी से आइजी तक गुहार लगाई। तब जाकर पांच माह बाद सिपाही अक्रांत के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप