रामपुर, जेएनएन। चीन के वुहान शहर में प्रोफेसर पति के साथ फंसी रामपुर की नेहा शुक्रवार को भारत नहीं लौट सकी। वहां फंसे भारतीयों को लेकर आने वाला विमान शुक्रवार को उड़ान नहीं भर सका। नेहा अभी तक फोन के जरिए परिजनों से संपर्क बनाए हुए थे, जो टूट गया है। दिन भर परिजनों ने उससे बात करने का प्रयास किया लेकिन फोन नहीं मिला।

एटा में है ससुराल 

सिविल लाइंस कोतवाली क्षेत्र के शिवापुरम कालोनी निवासी शैतान ङ्क्षसह यादव की बेटी नेहा की ससुराल एटा की है। शिवापुरम कालोनी में रहने वाले उनके पड़ोसी रामौतार यादव ने बताया कि करीब एक साल नेहा का परिवार भी यहां से एटा शिफ्ट हो गया है। नेहा के पति चीन के वुहान में प्रोफेसर हैं। कोरोना वायरस फैलने के बाद से पति-पत्नी वहां घर में कैद होकर रह गए हैं। दोनों ने सोशल मीडिया पर संदेश देकर वहां से निकालने की गुहार लगाई थी। इसके बाद एटा के सांसद राजवीर सिंह ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर दोनों को वहां से सकुशल वापस लाने की मांग की थी। मामले को गंभीरता से लेते हुए भारत सरकार ने वुहान में फंसे भारतीयों को वापस लाने और चीन को चिकित्सा सामग्री पहुंचाने के लिए गुरुवार रात भारतीय वायु सेना का सी-17 विमान भेजने का फैसला लिया था। इससे नेहा के परिजनों को उम्मीद थी कि वह शुक्रवार को भारत वापस लौट आएगी, लेकिन देर शाम तक ऐसे किसी विमान के आने की सूचना नहीं मिल सकी। 

सुबह बात होने के बाद से नहीं हो सका संपर्क

नेहा के छोटे भाई हरि ङ्क्षसह यादव ने फोन बताया कि दीदी से शुक्रवार सुबह फोन पर बात हुई थी। उसने बताया कि विमान यहां आने में कोई तकनीकी दिक्कत है। यहां कोई सही जानकारी नहीं मिल पा रही है। अभी एक-दो दिन और लग सकते हैं। फोन पर संपर्क नहीं हो पा रहा है। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस