रामपुर। रामपुर के अंतिम शासक नवाब रजा अली खां का स्ट्रांग रूम खोलने की कोशिश एक बार नाकाम हो गई। एडवोकेट कमिश्नर मुजम्मिल हुसैन व सौरभ सक्सेना की निगरानी में खासबाग पैलेस में स्ट्रांग रूम खोलने की कोशिश सुबह 11 बजे से शुरू हुई, जो शाम पांच बजे तक जारी रहा। मैकेनिक गैस कटर से काम करते रहे। लेकिन, उनकी तमाम कोशिशों के बावजूद स्ट्रांगरूम का दरवाजा कटना संभव नहीं हो सका। देर शाम एक बार फिर स्ट्रांग रूम के बाहर के दरवाजे पहले की तरह ही लॉक कर दिए गए। अब स्ट्रांग रूम कब खोला जाएगा, इसकी तारीख तय नहीं की गई है। दिनभर तमाम पक्षकार और अधिवक्ता खासबाग पैलेस में डटे रहे। पूर्व सांसद बेगम नूरबानो, पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां, युवा नेता नवाबजादा हैदर अली खां उर्फ नवेद मियां, वरिष्ठ अधिवक्ता हर्ष गुप्ता, संदीप सक्सेना, पूर्व मंत्री के पीआरओ काशिफ खां, धर्मेंद्र देव गुप्ता, मामून शाह खां, नोमान खां, शारिब अली खां, शबाब हुसैन व शाकेब अब्बास आदि मौजूद रहे। नवेद मियां ने बताया कि स्ट्रांग रूम नहीं कट पा रहा है। अब अदालत के सामने मामले को रखेंगे। किसी ओर साइड से दीवार काटकर अंदर जाने का प्रयास हो सकता है। अदालत जैसा आदेश करेगी, उसी के अनुरूप काम किया जाएगा। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस