जागरण संवाददाता, मुरादाबाद। 5G Service in UP : देश में फाइव जी (5G) से सेवा शुरू हो गई है लेकिन, मुरादाबाद के लोगों को यह सुविधा मिलने में अभी कुछ समय लग जाएगा। सरकारी कंपनी बीएसएनएल (BSNL) के मोबाइल उपभोक्ताओं को यह सुविधा मिलने की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं है। हालांकि फाइव जी शुरू होने के बाद फोर जी का पहिया घूमने से उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी। फाइव जी देश लांच होने के बाद युवा सबसे अधिक उत्साहित हैं।

पीएम मोदी (PM Modi) ने लांच की फाइव जी सेवा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को देश में फाइव जी (5G) का लांच किया है। वर्तमान में दो प्राइवेट मोबाइल कंपनियों ने फाइव जी सेवा देश के कुछ चुनिदा शहरों में शुरू की है। दोनों कंपनियां देश के अन्य शहरों में फाइव जी नेटवर्क उपलब्ध कराने के लिए वर्तमान फोर जी टावर को उच्चीकृत करेंगी और कुछ स्थानों पर फाइव जी का टावर लगाएंगी।

मुरादाबाद में दो माह में शुरू हो सकती है फाइव जी सेवा

मुरादाबाद (Moradabad) में प्राइवेट मोबाइल कंपनियों का कोई आफिस नहीं हैं, लेकिन माना जा रहा है कि दो माह के अंदर यह सेवा यहां भी शुरू हो जाएगी। फाइव जी सेवा शुरू होने के बाद तेज गति से इंटरनेट की सुविधा मिलना शुरू हो जाएगी। काॅॅल करने की सुविधा में कोई बदलाव नहीं होगा।

किस नेटवर्क की कितनी होती है स्पीड

टू जी (2G) नेवटर्क की अधिकतम गति सीमा सौ किलो बाइट प्रति सेकेंड है। थ्री जी (3G) की अधिकतम गति 30 मेगा बाइट प्रति सेकेंड है। फोर जी (4G) की गति एक गीगा बाइट प्रति सेकेंड है। जबकि फाइव जी (5G) की अधिकतम गति 20 गीगा बाइट प्रति सेकेंड है। इससे इंटरनेट सर्फिंग बिना बफरिंग के होगी।

शिक्षा व चिकित्सा क्षेत्र को सबसे अधिक होगा लाभ

फाइव जी आने के बाद पढ़ाई करने वाले छात्रों को सबसे अधिक लाभ होगा। ऑनलाइन पढ़ाई बिना रुकावट के हो सकेगी। तकनीकी व चिकित्सा की ऑनलाइन पढ़ाई में बड़े ग्राफिक की आवश्यकता होती है। इंटरनेट की गति बढ़ जाने से छात्रों को पढ़ाई करना आसान हो जाएगा। मुरादाबाद से रोगी का दिल्ली मुंबई में बैठे चिकित्सक सीटी स्कैन, एमआरआइ कर पाएंंगे। डिवाइस व उपकरण के सहारे दूर बैठे चिकित्सक रोगी की हृदय की गति तक को जान पाएंगे।

बीएसएनएल अभी तक थ्री जी पर टिकी

सरकारी मोबाइल कंपनी बीएसएनएल अभी तक उपभोक्ताओं को थ्री जी की सुविधा ही उपलब्ध करा रही है। जिले में फोर जी सेवा शुरू करने के लिए 334 मोबाइल टावर लगाने का प्रस्ताव भेजा है। हालांकि इसे लगाने के लिए कंपनी भी नामित कर दी गई है, लेकिन कब तक लेगा, इसका कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं किया है। जबकि तीनों प्राइवेट मोबाइल कंपनियां फोर जी सेवा उपभोक्ताओं को उपलब्ध करा रही हैं।

पचास प्रतिशत उपभोक्ता एक से अधिक रखते हैं मोबाइल

टेलीफोन रेगुलेटरी अथारिटी आफ इंडिया (टीएआरआइ) ने हाल में एक रिपोर्ट जारी की है। जिसमें कहा है कि 50 प्रतिशत उपभोक्ता एक से अधिक मोबाइल रखते हैं। उत्तर प्रदेश में साढ़े 16 करोड़ मोबाइल के कनेक्शन हैं। जियो के पास 5.5 करोड़, एयरटेल के पास 5.3 करोड़, वोडा आइडिया के पास 3.9 करोड़ और बीएसएनएल के पास 1.5 करोड़ मोबाइल के कनेक्शन हैं। मुरादाबाद टेलीफोन जिले में चारों कंपनी के 23 लाख उपभोक्ता हैंं।

क्या कहते हैं बीएसएनएल के अधिकारी

बीएसएनएल के उप महाप्रबंधक बीके शर्मा का कहना है कि बीएसएनएल में अभी फोर जी शुरू किया जाना प्रस्तावित है। मुरादाबाद में प्राइवेट कंपनियां अपने नेटवर्क में सुधार करेंगे, तभी फाइव जी सेवा शुरू करने के लिए अभी घोषणा कर सकते हैं। मुरादाबाद में कब से फाइव जी सेवा शुरू होगा, इस बारे में प्राइवेट कंपनी ही बता पाएंगे।

Edited By: Samanvay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट