मुरादाबाद, जेएनएन। Illegal Stands in Moradabad : महानगर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए हम लगातार आगे बढ़ रहे हैं। लेकिन, चंद रुपयों के लालच ने यातायात व्यवस्था का सारा निजाम बिगाड़ रखा है। पुलिस के संरक्षण में हर सौ कदम पर स्टैंड संचालित हो रहा है। कोई नियम ही नहीं है, आटो और ई-रिक्शा चालक जहां चाहते हैं, वहीं से अवैध स्टैंड संचालित होने लगता है। इससे लगने वाले जाम से आम जनता को जूझना पड़ता है।

होमगार्डों की मदद से ट्रैफिक पुलिस भी दिन में अपना लक्ष्य पूरा करने में लगी रहती है। दिनभर ट्रैफिक पुलिस और आटो रिक्शा वालों की आंख मिचौली का खेल चलता रहता है। अफसर भी कई बार अवैध स्टैंड बनाए जाने वाली सड़कों से गुजरते हैं। लेकिन, इसकी चिंता किसी को नहीं रहती। नतीजन स्टेशन रोड से निकलना मुश्किल होता है। ट्रैफिक की समस्या का समाधान करने के लिए आम आदमी को भी कुछ सोचना होगा। आटो रिक्शा और ई-रिक्शा वाले भी इसमें सहयोग करें तभी लोगों को जाम से निजात मिल सकती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 24 घंटे में अवैध स्टैंड समाप्त किए जाने के आदेश दिए जाने के बाद जागरण की टीम ने शहर का भ्रमण करके सच्चाई जानने की कोशिश की। इस दौरान कुछ भी बदल हुआ नजर नहीं आया।

सम्भल चौराहे पर जाम से निजात दिलाने के लिए यहां ओवरब्रिज बना था। लेकिन, डबल फाटक पुल से दोनों तरफ अवैध स्टैंड बने हुए हैं। बुधवार को दस सराय पुलिस चौकी के पास ही विक्रम सवारियां भरकर डींगरपुर तक जाते हैं। हर थाने की पुलिस से स्टैंड चलाने वालों की अच्छी दोस्ती हो गई है। सम्भल चौराहे से स्टेशन रोड की तरफ आते समय बांयी साइट में स्टैंड बन गया है। यहां ट्रैफिक पुलिस के जवान और होमगार्डों की ड्यूटी लगती है। लेकिन, आटो और ई-रिक्शा चालक मनमानी ही करते रहते हैं। इससे जाम की समस्या बनी रहती है।

पुराने रोडवेज बस अड्डे पर कई तरह के अवैध वाहन संचालित हो रहे हैं। नगर विधायक रितेश गुप्ता की शिकायत के बाद बुधवार को यहां से संचालित होने वाली ठेका गाड़ी तो नहीं दिखाई दीं। लेकिन, डाक्टर पीके खन्ना के सामने से मारुति वैनों में सवारियां भरी जा रही थीं। यात्री शेड के सामने खड़े होकर मारुति वैन का चालक सवारियां भरता रहा। पड़ोस में ही रोडवेज पुलिस चौकी है। डायल 112 की गाड़ी भी खड़ी थी। लेकिन, किसी ने डग्गामार वाहन चालकों से कुछ नहीं कहा। पुलिस के सामने ही चालक बेखौफ होकर डग्गामार वाहन में सवारियां भरता रहे।

रेलवे स्टेशन गेट पर सवारियाें को लेकर मारामारी रहती है। यहां की सड़क पहले से ही तंग है। इसके बाद सड़क पर आटो रिक्शा खड़े हो जाते हैं तो स्थिति खराब हो जाती है। बुधवार को भी रोजाना की तरह सवारियां भरने को लेकर मारामारी हो रही थी। इससे जाम की स्थिति बनी रही। यहां भी पुलिस कर्मी ख़ड़े तमाशा देख रहे थे। स्टेशन के पास पारकर रोड तिराहे पर भी जाम लगा था। यहां कट से ताड़ी खाने की तरफ जाने वाले वाहनों की वजह से जाम की समस्या बनी रहती है। यहां रात के हालात और अधिक खराब रहते हैं। होटलों पर आने वाले लोगों के वाहन सड़क को घेर लेते हैं।

दिल्ली रोड स्थित गांगन तिराहे पर 24 घंटे पुलिस रहती है। यहां से भी अवैध स्टैंड हटवाने में पुलिस पूरी तरह से नाकाम है। डग्गामार वाहन, आटो रिक्शा, ई-रिक्शा और टेंपो यहां से संचालित हो रहे हैं। कुछ दिन अभियान चलता है, इसके बाद फिर पुराने ढर्रे पर काम शुरू हो जाता है। बुधवार को भी यहां डग्गामार वाहनों की कतारें लगी रहीं। तिराहे पर ही शहर की तरफ आने वाली साइड में टेंपो खड़े होकर सवारियां भरते रहे। पुलिस ने उनसे टोकाटाकी तक नहीं की। आरटीओ आफिस सम्भल रोड से लाकड़ी की तरफ जाने वाले रोड पर भी अवैध टेंपो स्टैंड बन गया है।

खुशहालपुर रोड पर दोनों साइड में ई-रिक्शा और आटो खड़े होने से हादसा होने का खतरा बना रहता है। लेकिन, पुलिस यहां खड़ी तमाशा ही देखती रहती है। बुधवार को भी ई-रिक्शा वाले खुशहालपुर मोड़ पर खड़े थे। यहां से वाहनों को गुजरने के लिए जगह नहीं मिली तो एक ई-रिक्शा चालक से विवाद भी हो गया। काशीराम नगर को जाने वाले रास्ते पर भी आटो रिक्शा चालकों ने मोड़ पर ही अपना ठिकाना बना रखा है। पुलिस यहां भी दिनभर रहती है। लेकिन, कोई आटो रिक्शा वाला टस से मस नहीं होता है।

पाकबड़ा में डींगरपुर मंदिर तिराहा पर अवैध टैम्पो स्टैंड चलता दिखाई दिया। जिसकी वजह से यहां पर सबसे ज्यादा जाम की समस्या बनी रहती है। इसके अलावा पाकबड़ा में पुलिस चौकी के पास अवैध स्टैंड लगातार चल रहा है। स्तिथी जस की तस बनी हुई है। सेंट परपेचुआ स्कूल के पास अवैध बस व टेंपो स्टैंड बना हुआ है। बुधवार को भी स्टैंड चलता रहा। दिल्ली हाईवे पर टीएमयू के पास अवैध स्टैंड पर टैंपो व आटो की लंबी लंबी लाइन दिखाई दी। दिल्ली मार्ग पर भी ऑटो आड़े तिरछे खड़े होकर हादसों को दावत देते हैं। टीएमयू के सामने अवैध तरीके से टेंपो वालों ने स्टैंड बना लिया है।

अगवानपुर के मुख्य तिराहे पर बीच सड़क पर खुलेआम अवैध रूप से टैम्पो स्टैंड चल रहा है। जिससे सड़क पर अतिक्रमण होने से लोगों को निकलना दुश्वार हो रहा है। अगवानपुर में बीच चौराहे पर अवैध रूप से टेंपो स्टैंड चल रहा है। यहां से नगर का मुख्य रास्ता होने के साथ-साथ अगवानपुर से कांठ को कांवड़ पथ रोड भी कहा जाता है। स्टैंड दबंग किस्म के लोग संचालित कर रहे हैं। इसके बावजूद स्थानीय पुलिस मौन साधे हुए हैं। जिससे नगर वासियों सहित आने जाने वाले लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

यहां भी अवैध स्टैंडः  फव्वारा चौक, सत्यम सिनेमा के सामने, स्टेडियम रोड, पीतलनगरी रोडवेज बस स्टेशन, हनुमानमूर्ति, पंडित नगला मोड़, कोहिनूर तिराहा, डींगरपुर, कुंदरकी, दलपतपुर, मूंढापांडे। एसपी यातायात अशोक कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर सड़क सुरक्षा संबंधी कार्यक्रम शुरू हो रहा है। जनपद में अवैध स्टैंड की जानकारी नहीं है। पुलिस पर हमारी नजर बनी रहती है। डग्गामार वाहन या बिना परमिट के वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। कुछ मार्गों के कटों को नियंत्रित किया जाएगा। इसमें जनता से सहयोग की अपील है। 

Edited By: Samanvay Pandey