मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad School Reopen News : लगभग डेढ़ साल के बाद प्राइमरी स्कूल बुधवार से खुल गए। पहले दिन बच्चों में उत्साह रहा। पब्लिक स्कूलों में कहीं कक्षाएं लगीं तो कहीं अभी कंसन्ट दिए गए। कई स्कूलों में करीब 100 से अधिक छात्र होने पर दो शिफ्ट में स्कूल संचालन की व्यवस्था की गई है।स्कूल पहुंचने पर बच्चों की सबसे पहले थर्मल स्क्रीनिंग की गई । इसके बाद सैनिटाइजर और मास्क बांटे गए।स्कूलों में बच्चों का गर्मजोशी से स्वागत भी किया गया। पहली शिफ्ट आठ बजे से शुरू हो गई। लेकिन, बच्चे नौ बजे तक आते रहे।

ग्रामीण क्षेत्र के बेसिक शिक्षा परिषद के प्राइमरी स्कूलों में मिड डे मिल की व्यवस्था बनाने में दिक्कत आ रही है। जिन स्कूलों में दो शिफ्ट में कक्षाएं चलेंगी वहां मिड डे मील पहली शिफ्ट 11 बजे खत्म होने पर बटेगा और दूसरी शिफ्ट के बच्चों के 11 बजे आने पर मिड डे मील की व्यवस्था एक साथ की गई है। शिक्षकों को दूसरी शिफ्ट के बच्चों के आने का अंदाजा अभी नहीं है। अगर ज्यादा बनवाते हैं तो मिड डे मील खराब होने और कम बनवाते हैं तो भी समस्या आ सकती है। प्राइमरी स्कूल रतनपुर कला में 100 से अधिक बच्चे हैं। पहले दिन यह देखा जा रहा है कि कितने बच्चे आएंगे। उसी हिसाब से शिफ्ट लगाई जाएगी। पब्लिक स्कूलों में अभी पहले दिन 10 से 15 बच्चे ही आए।

पीएमएस स्कूल में कक्षाएं लगींं। लेकिन, उपस्थिति कम रही। नोजगे पब्लिक स्कूल में कंसन्ट फॉर्म देकर कल से स्कूल आने को कहा गया। प्राइमरी स्कूल रसूलपुर नगली में बच्चों का तालियों और फूलों के साथ स्वागत किया गया। प्राइमरी स्कूल अदलपुर में भी बच्चों का स्वागत हुआ और कक्षाओं को लर्निंग मटेरियल से सजाया गया है। रतनपुर कला के प्रधानाध्यापक धर्मेंद्र प्रताप सिंह कहते हैं कि पहले दिन व्यवस्थाएं बनाने पर ध्यान केंद्रित है। एक-दो दिन में पढ़ाई पटरी पर आ सकेगी। चंगेरी के प्रधानाध्यापक खिलेंद्र सिंह कहते हैं कि पहले दिन बच्चों को योग कराया गया और कोविड-19 के नियमों की जानकारी भी दी गई।

Edited By: Samanvay Pandey