मुरादाबाद, जेएनएन : नकल पर नकेल कसने के इंतजाम में मंडल के मुरादाबाद व अमरोहा जिला नंबर वन साबित हुए हैं। मुरादाबाद में 102 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा होनी है। इन पर निगरानी रखने के लिए डीआइओएस कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित हो गया है। इस कंट्रोल रूम में छह कंप्यूटर व तीन एलईडी लगाई गई हैं। परीक्षा केंद्रों के आइपी नंबर को साफ्टवेयर से लिंक किया गया है। इससे डीआइओएस कार्यालय में एक क्लिक पर किसी भी परीक्षा केंद्र की गतिविधियों पर नजर रखी जा सकेगी। माध्यमिक शिक्षा परिषद की प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने वीडियो कांफ्रेंस में कंट्रोल रूम की जानकारी हासिल की। इसमें प्रदेश में मुरादाबाद, अमरोहा, लखनऊ अव्वल हैं।

तीन साल पहले सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षा हुई थी। पिछले साल सीसीटीवी के साथ वाइस रिकार्डर भी केंद्रों पर लगाए गए थे लेकिन, इस बार डीआइओएस प्रदीप द्विवेदी ने शासनादेश के तहत कंट्रोल रूम की स्थापना कराई है। किसी भी परीक्षा केंद्र के आइपी नंबर से वह अपने दफ्तर से ही निगरानी रख सकेंगे। कंट्रोल से निगरानी का ट्रायल पिछले साल हो चुका है। परीक्षाओं के बाद मूल्यांकन केंद्रों को कंट्रोल रूम से जोड़ा गया था, जिसमें सफलता के बाद अब वर्ष 2020 की परीक्षा में इसे लागू किया गया है। परीक्षा प्रभारी संदीप शर्मा ने बताया कि कंट्रोल रूम की स्थापना हो चुकी है, ट्रायल लिया जा रहा है। 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस