मुरादाबाद [मेहंदी अशरफी]: नए साल पर जिले के लोगों को सेहत का तोहफा मिलेगा। 20 जनवरी तक में जिले में छह स्थानों पर हेल्थ एटीएम स्थापित हो जाएंगे। खून और फौरन वाली जांचों के लिए आपको घबराने की जरूरत नहीं है। जिले के छह स्थानों पर स्वास्थ्य विभाग हेल्थ एटीएम लगाने जा रहा है। जिसमें मरीजों को फौरन जांच के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। 

पहले छह एटीएम तहसील मुख्यालय और बड़े कस्बों में लगाए जा रहे हैं। इन क्षेत्रों में यह व्यवस्था इसलिए कराई जा रही है कि उन्हें सही जांच मिल सके। पहले ठाकुरद्वारा, कांठ, बिलारी, डिलारी, मूंढापांडे और भोजपुर में लगाए जाएंगे। हेल्थ एटीएम के लिए माननीयों की निधि से 20 लाख रुपये दिए गए हैं। 

10 लाख रुपये खनिज विभाग की ओर से जिलाधिकारी ने दिए हैं। इसमें एक-एक लैब तकनीशियन को बैठाया जाएगा। जो मरीज के खून का नमूना लेकर उस मशीन में लगा देंगे। इसके बाद रिपोर्ट मरीज को दे दी जाएगी। 

जांच कराने के बाद मरीज अपनी रिपोर्ट लेकर सीधे डाक्टर से मिल सकते हैं। जिससे उनका जांच के नाम पर समय बर्बाद नहीं होगा। जांच रिपोर्ट के आधार पर चिकित्सक उन्हें दवा लिख देंगे।

यह मिलेगा फायदा

  •  जल्दी रिपोर्ट मिल जाएगी
  • डिजिटल हेल्थ रिकार्ड मरीज का मशीन में सेव होगा
  • इस डाटा से स्वास्थ्य विभाग को भी बीमारी की जानकारी होगी

यह होगी व्यवस्था

हीमोग्लोबिन स्ट्रिप, सुगर स्ट्रिप, एचबीए-1 सी, स्ट्रिप्स, लिपिड प्रोफाइल स्ट्रिप्स, ब्लड ग्रुपिंग रेपिड किट की रहेगी व्यवस्था।

यह होंगी जांचें

हीमोग्लोबिन, ब्लड ग्रुपिंग, कोविड एंटीजन, आंखों की जांच, शरीर का टेम्प्रेचर, ब्लड प्रेशर, शरीर का आक्सीजन, पल्स, हाइट, शरीर का वजन, शरीर में चर्बी, शरीर में पानी, हड्डी मास, शरीर में प्रोटीन, फैट फ्री वजन, कोलेस्ट्राल आदि 32 जांचें हो सकेंगी।

इन माननीयों की लगी निधि

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कांठ के लिए विधान परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह चौधरी, ठाकुरद्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए डा. जयपाल सिंह व्यस्त, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए सत्यपाल सिंह सैनी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डिलारी के लिए राम गोपाल उर्फ गोपाल अंजान ने अपनी निधि से पांच-पांच लाख रुपये की निधि हेल्थ एटीएम स्थापित कराने के लिए दी है।

हिंदुस्तान कंपनी ने भेजा प्रस्ताव

हेल्थ एटीएम लगाने की जिम्मेदारी हिंदुस्तान एंटीबायोटिक्स लिमिटेड को देने की तैयारी है। एटीएम का में उपकरण और सभी व्यवस्थाएं इन्हीं के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएंगी। एक एटीएम तकरीबन साढ़े चार लाख रुपये का बैठेगा। छह एटीएम करीब 28 लाख रुपये के होंगे। विभाग के अकाउंट में 30 लाख रुपये आ चुके हैं।

यह बोले जिम्मेदार

फिलहाल जिले के तहसील मुख्यालय और बड़े कस्बों में छह एटीएम लगाने की तैयारी हो चुकी है। एटीएम लगने के बाद गांव के उन लोगों को सहूलियत होगी जाे जांच के लिए इधर-उधर भटकते हैं। जांच रिपोर्ट के साथ मरीज डाक्टर के पास जाएंगे तो इसमें दोनों का ही समय बचेगा।

-डा. एमसी गर्ग, मुख्य चिकित्सा अधिकारी।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट