मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। दूध डेयरी की जांच करने पहुंची महिला खाद्य अधिकारी से छेड़छाड़ करने के आरोपित पार्षद अब्दुल करीम फारुखी और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भिजवा दिया। खाद्य अधिकारी के एसएसपी के सामने फफक फफक कर रोने की घटना के बाद आला अधिकारियों के कड़े रुख पर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई हुई है। इनके अलावा अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है।

एसएसपी को खाद्य अधिकारी ने बताया कि 17 सितंबर को सुबह करीब 11 बजे वह गलशहीद थाना क्षेत्र के पुख्ता सराय स्थित दूध डेयरी की चेकिंग करने गईं थीं। इस डेयरी का संचालन सपा का पार्षद अब्दुल करीम फारुखी करता है। उन्होंने डेयरी संचालक से दस्तावेज दिखाने के लिए कहा तो विरोध करना शुरू कर दिया। पार्षद ने उन्हें अनुचित तरीके से छुआ और कहा कि कमरे में बंद करके बताऊं कैसे चेकिंग होती है। घटना के बाद खाद्य अधिकारी ने गलशहीद थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया था। लेकिन, थाने की पुलिस इस मामले को हल्के में लेती रही। एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी आरोपित पर कोई कार्रवाई न होने से खाद्य अधिकारी अपने पूरे स्टाफ के साथ एसएसपी के पास पहुंच गईं। उन्होंने बताया कि आरोपित पार्षद के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। वह फोन करके उन पर समझौता करने के लिए दवाब बना रहा है। इस मामले में कार्रवाई नहीं हुई तो वह इस्तीफा दे देंगी। एसएसपी ने महिला अधिकारी की शिकायत को गंभीरता से लेकर गलशहीद थाना प्रभारी कपिल कुमार को बुलाकर डांटा। साथ ही खाद्य अधिकारी के साथ फोर्स भेजकर दूध डेयरी को सील करा दिया। इतना ही नहीं इस मामले में प्रभारी निरीक्षक और दारोगा को निलंबित कर दिया था। एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने बताया कि इस मामले में वांछित पार्षद अब्दुल करीम फारूकी निवासी मुहल्ला पुख्ता सराय और मुहम्मद हाशिम निवासी पक्की सराय, थाना गलशहीद, मुरादाबाद को गिरफ्तार करके जेल भिजवा दिया है। इन पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी को धमकाते हुए सरकारी कार्य में बाधा डालने, अश्लील हरकत करने, छेड़खानी करने व दुकान पर न आने की धमकी देने का आरोप है।

Edited By: Narendra Kumar