मुरादाबाद, जेएनएन। ईद के चांद का दीदार हो चुका है। आज ईदुल फित्र की नमाज अदा की जाएगी। चांद देखने के साथ ही लोगों ने अल्लाह रब्बुल इज्जत से महामारी के खात्मे की दुआ की। उलमा ने लोगों से घरों में ईद की नमाज अदा करने की अपील की है।

पूरे माह के मुबारक रोजे रखने के बाद ईद की खुशियां अल्लाह की ओर से इनाम है। कोरोना महामारी की वजह से बहुत लोग परेशान हैं। उनकी मदद करके। परेशान लोगों के चेहरों पर भी मुस्कान लाने का काम करें। घरों में रहकर ईद की नमाज अदा करें।

सैयद मासूम अली, शहर इमाम

सरकार की गाइड लाइन के मुताबिक चलें। कोरोना महामारी की वजह से भीड़ इकट्ठा न होने दें। घरों में नमाज अदा करें। अल्लाह से दुआ करें कि संक्रमण का ये बुरा दौर जल्द खत्म हो जाए। जरूरतमंदों की मदद को आगे गएं।

मुफ्ती सैयद फहद अली, नायब शहर इमाम

इस महामारी में किसी न किसी ने अपनों को खोया है। बेशक ईद खुशियाें का त्योहार है लेकिन, हम लोगों को इस बार उन लोगों का सहारा बनना है जो संक्रमण की चपेट में आए हैं। ऐसे लोगों की मदद को आगे आएं।

सैयद शिबली मियां, सज्जादानशीन

पूरी दुनिया इस महामारी की चपेट में है। अल्लाह से इस ईद पर दुआ मांगे कि जो अस्पतालों में भर्ती हैं। अल्लाह उन्हे सेहतयाब करे। जो परेशान हैं उनकी मदद के लिए आगे आएं। पास-पड़ोस को भी देखें।

नवाब हयातुन्नबी खां, सज्जादानशीन

गलियों में बिका जरूरत का सामान

ईद की खरीदारी रमजान में ही शुरू हो जाती है लेकिन, लगातार दूसरे साल कोरोना महामारी की वजह से रमजान में बाजार पूरी तरह बंद रहा। इस वजह से दुकानदारों ने अपना सामान घरों में रख लिया था। जिस वजह से लोगों ने जरूरतभर का सामान खरीदा। दूध की दुकानें खुली थीं। लोगों ने सुबह में फातिहा के लिए शीर और सेवईयां तैयार करने का सामान खूब बिका।

Edited By: Narendra Kumar