जागरण संवाददाता, मुरादाबाद। Moradabad Mining Mafia : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त निर्देश के बाद पुलिस अवैध खनन करने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। इस मामले में डीआइजी शलभ माथुर ने मंडल के सभी पुलिस अधीक्षकों से अभी तक दर्ज की गई प्राथमिकी की प्रगति रिपोर्ट मांगी है।

अफसरों को खनन में संलिप्त माना जाएगा

थाना स्तर पर अवैध खनन के मामले पहले तो दर्ज नहीं किए जाते हैं। वहीं दर्ज होने के बाद कार्रवाई को ठप कर दिया जाता है। ऐसे सभी मामलों की पड़ताल करके अवैध खनन में संलिप्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई तय की जाएगी। जिस भी अधिकारी ने खनन माफिया के खिलाफ रिपोर्ट नहीं लिखी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सीएम ने वीडियो कांफ्रेंस में दिए थे सख्त निर्देश

बीते दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से पुलिस अफसरों से बात की थी। इस दौरान उन्होंने अवैध खनन और परिवहन से संबंधित मामलों में सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे। ठाकुरद्वारा की घटना के बाद से मुरादाबाद पुलिस अवैध खनन सिंडीकेट संचालकों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है।

मुरादाबाद डीआइजी ने खनन मामलों की रिपोर्ट मांगी

वहीं डीआइजी शलभ माथुर ने इस मामले में जोन के सभी पुलिस अधीक्षकों से अवैध खनन के मामले में दर्ज की गई प्राथमिकी की रिपोर्ट मांग ली है। डीआइजी ने कहा कि ऐसे सभी मामलों की समीक्षा की जाएगी। पूर्व में दर्ज प्राथमिकी में दर्ज आरोपितों को जेल भेजा जाएगा।

एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा

इसके साथ ही जिन मामलों पर समय पर कार्रवाई नहीं हुई हैं,ऐसे विवेचक और थाना प्रभारियों के खिलाफ भी कार्रवाई तय की जाएगी। डीआइजी ने सभी पुलिस अधीक्षकों को पत्र भेजकर एक सप्ताह में प्रगति रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

Edited By: Samanvay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट