अमरोहा (अनिल अवस्थी) । हुनर कभी बेकार नहीं जाता। छात्र जीवन में इनाम में मिली सिलाई मशीन से 24 वर्ष पहले विधायक राजीव तरारा ने सिलाई सीखी। अब वह इस मशीन से प्रतिदिन लगभग सौ मॉस्क सिल रहे हैं। इनके पिता तोताराम भी विधायक रह चुके हैं, मगर बिना किसी गुमान के उन्होंने मशीन से सिलाई का हुनर हासिल किया। अब वह अपने क्षेत्र में भोजन के पैकेट के साथ खुद का तैयार किया मॉस्क भी निश्शुल्क बांट रहे हैं।

धनौरा विधानसभा क्षेत्र के गांव तरारा निवासी भाजपा विधायक राजीव तरारा इन दिनों पूडिय़ां सेकने व मॉस्क सिलने को लेकर चर्चा में हैं। खाना बनाना तो उन्होंने पढ़ाई के दौरान अकेले रहने के कारण सीख लिया था मगर सिलाई में उनकी निपुणता के पीछे रोचक प्रसंग छिपा है। वर्ष 1996 में जब कल्याण ङ्क्षसह प्रदेश के मुख्यमंत्री थे तब उनके पिता तोताराम भाजपा से विधायक थे। उस समय राजीव तरारा हाईस्कूल के छात्र थे। वह बताते हैं कि एक अखबार के लकी ड्रॉ में उन्हें सिलाई मशीन मिली थी।

छात्र जीवन से ही संघ से जुड़े होने के कारण हर काम में निपुणता हासिल करने की वहां से ही सीख मिली थी, इसीलिए मशीन मिलते ही कपड़े सिलना सीख लिया। तबसे यह मशीन घर में रखी है। एमए, एलएलएलबी तक पढ़ाई के बाद पिछले चुनाव में वह खुद विधायक बन गए। कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन के बाद वह कारीगरों के साथ पूडिय़ां तलवाकर, फिर उन्हें खुद ही बंटवाने जाते हैं। इसी दौरान हर किसी के लिए जरूरी बन चुके मॉस्क की किल्लत शुरू हो गई। वहीं कई जगहों पर इनके महंगे दामों में बेचे जाने की भी शिकायतें मिलने लगीं। इस समस्या को देखते हुए उन्हें अपनी सिलाई मशीन याद आ गई। फिर क्या था, उन्होंने मशीन निकालकर मॉस्क सिलने शुरू कर दिए हैं।

वह खुद ही प्रतिदिन सौ मॉस्क तैयार करते हैं। इसके आलवा एक नई मशीन भी मंगाई है। इससे कारीगर के जरिये मॉस्क सिलवा रहे हैं। कहते हैं अब भोजन के पैकेट बांटने के साथ मॉस्क का भी वितरण कर रहे हैं। इससे क्षेत्र में अब किसी को मॉस्क के लिए धक्के नहीं खाने पड़ रहे हैं।

रंगकर्मी भी रहे हैं पिता-पुत्र

अमरोहा : पूर्व विधायक तोताराम विधायक बनने से पूर्व नौटंकी में विभिन्न किरदार निभाते थे। इसी तरह विधायक राजीव भी नादिरा शाह बब्बर के साथ ढाई वर्षों तक स्टेज शो कर चुके हैं। वह बताते हैं कि भ्रूण हत्या को लेकर कजरिया फिल्म में भी किरदार अदा किया था। 

Posted By: Ravi Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस