मुरादाबाद, जेएनएन। कोरोना महामारी में सबसे अधिक आक्सीजन की जरूरत पड़ी है। लोगों को आक्सीजन वाले पौधों की अहमियत का अंदाजा हो गया है। लेकिन, शहर के कांठ रोड स्थित आशियाना कालोनी के बाल विहार पार्क को बुजुर्गों ने संवारा है। कालोनी के लोगों के लिए बीपी शर्मा, अशोक कुमार भटनागर, वीसी गर्ग, दीपक कुमार, शैलेंद्र सिंह राणा ने बाल विहार पार्क में औषधीय पौधे रोपित किए हैं। इसके अलावा पूरे पार्क की देखभाल भी उन्हीं के जिम्मे है। इसमें बेल, हार सिंगार, सहजन, बरगद, पीपल, नीम, अर्जुन, कदम, आवला, तुलसी, गिलोय, आडू, नींबू, केले, गुलाब आदि के तकरीबन एक हजार पौधे रोपित करवा चुके हैं।

पार्क की देखभाल के साथ ही पौधों को पानी देने के लिए माली का भी इंतजाम कराया है। सुबह होने के साथ ही ये सभी लोग पार्क में पहुंच जाते हैं। कालोनी के निवासियों को भी पार्क के पौधों की देखभाल के लिए प्रेरित करते हैं। इनका प्रयास रहता है कि हमारा पार्क मिसाल बनें। लोग अपने पार्कों को भी सुंदर बनाएं। पार्क की हरियाली पर जोर दें।

बारिश में ग‍िर गए कच्‍चे मकान : रामपुर के सैफनी में  बारिश में एक वृद्ध विधवा का कच्चा मकान भरभरा कर उस पर गिर गया। मकान गिरने की आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने महिला को बाहर निकाला। महिला मामूली घायल हुई हैं। वहीं मकान गिरने से हजारों रुपये का सामान दबकर खराब हो गया। क्षेत्र के किशनपुर गांव में विधवा हसिया पत्नी लल्ला का मकान पर खपरैल पड़ी है। दोपहर में वह अपने कमरे में लेटी हुई थीं। अचानक भर-भराकर उसका घर गिर गया। जिसमें वह दब गई। मौके पर पहुंचे लोगों ने उसे बाहर निकाला। संयोग से उसके मामूली चोट आईं। स्वजनों ने बताया कि मलवे में उनका राशन, कपड़े आदि सामान भी दब गया है। जिसके चलते हजारों रुपये का नुकसान हो गया है। मामले की सूचना हल्का लेखपाल जुहेब खां को दी गयी। लेखपाल ने बताया कि उन्होंने मौका मुआयना किया है। बारिश की वजह से मकान गिर गया है। इसकी रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों को दी गयी है।

Edited By: Narendra Kumar