मुरादाबाद (प्रदीप चौरसिया)। पेट्रोल पंप की तर्ज पर रसोई गैस  (एलपीजी) के रीफिलिंग सेंटर खुलने जा रहे हैं। यहां कोई भी व्यक्ति सिलिंडर में सौ रुपये की गैस भरवा सकता है। इसका सबसे ज्यादा लाभ गरीब परिवारों को मिलेगा। इसके लिए देश भर में पाइप लाइन डालने की तैयारी है। 

घरों तक पहुंची पीएनजी 

प्राइवेट कंपनियां रसोई घर के लिए पीएनजी (पाइप लाइन नेचुरल गैस) घर तक पहुंचा रही हैं। इससे परिवहन खर्च की बचत होने से सस्ती गैस मिलती है।  सरकारी तेल कंपनियों ने वाहन में गैस भरने के लिए ऑटो एलपीजी पंप खोल रखे हैं। रसोई के लिए सिलिंडर के माध्यम से गैस घर तक पहुंचायी जा रही है। परिवहन खर्च की वजह से यह एलपीजी महंगी पड़ती है। इसके लिए सरकार को अतिरिक्त खर्च उठाना पड़ता है। वर्तमान में सिलिंडर में गैस रीफिलिंग के लिए कुछ स्थानों पर सेंटर बने हुए हैं। 

घाटे को कम करने की योजना 

सरकार घाटे को कम करने और पेट्रोल डीजल की तर्ज पर खुले बाजार में गैस बेचने की योजना शुरू करने जा रही है। इसके लिए सरकारी कंपनियों ने देश भर में पाइप लाइन डालने का काम शुरू कर दिया है। शहरी क्षेत्रों में सिलिंडर के बजाय पाइप लाइन से गैस की आपूर्ति करने की योजना है। जिला मुख्यालय स्तर पर पेट्रोल पंप की तरह एलपीजी रीफिलिंग सेंटर खोलने जा रहा है। यहां से सिलिंडर में गैस की रीफिलिंग हो सकेगी। यहीं से वाहनों में ऑटो एलपीजी गैस भरी जाएगी। इससे बड़ा सिलिंडर नहीं खरीद पाने वाले गरीब परिवारों को राहत होगी। वह रीफिलिंग सेंटर से 50 व सौ रुपये की गैस सिलिंडर में भरवा सकेंगे। रीफिलिंग सेंटर खोलने के लिए तेल कंपनियों के अधिकारी स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी से सम्पर्क कर रहे हैैं। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस