अमरोहा। अमरोहा से सपा-बसपा व रालोद गठबंधन के निर्वाचित सांसद कुंवर दानिश अली की जीत की खुशी मनाने को रहरा में निकाले जा रहे जुलूस को पुलिस ने रोक दिया। जुलूस रोकने पर रोष प्रकट करते हुए कार्यकर्ता अपने घरों को लौट गए।

बसपा के हसनपुर विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष एवं रहरा के प्रधान पति बब्लू गौतम के नेतृत्व में गठबंधन कार्यकर्ताओं ने साहिल क्लाथ हाऊस से सांसद की जीत की खुशी में विजय जुलूस निकालना शुरू किया तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इसकी अनुमति दिखाने पर पुलिस ने उनकी प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार शर्मा से बात कराई। प्रभारी निरीक्षक ने धारा 144 का हवाला देकर जुलूस निकालने से साफ इंकार कर दिया। हालांकि थाना प्रभारी की रिपोर्ट के आधार पर ही उपजिलाधिकारी द्वारा 1 जून को सांय 4 से 7 बजे तक शांतिपूर्वक पदयात्रा करने की अनुमति जारी की गई थी।

जुलूस रोकने पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बसपा के विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष बब्लू गौतम ने कहा पुलिस प्रशासन सत्ता के दबाव में काम कर रहा है। तर्क दिया कि शुक्रवार को भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा रहरा में ही विजय जुलूस निकाला गया था। उन्हें किसी ने नहीं रोका। प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार शर्मा का कहना है कि धारा 144 लगी हुई है। पांच व्यक्तियों से ज्यादा एक साथ नहीं आ सकते। गठबंधन के कार्यकर्ता सैकड़ों की तादाद में एकत्र हो गए थे। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए विजय जुलूस को रोका गया है।

भाजपा का जुलूस क्यों नहीं रोका गया

प्रशासन को कानून का पालन कराने का पूरा हक है, लेकिन सभी राजनैतिक दलों के लिए प्रशासन को एक समान रहना चाहिए। कल भाजपा का जुलूस निकला था, उसे किसी ने नहीं रोका। गठबंधन कार्यकर्ताओं को खुशी मनाने से रोकना पक्षपात पूर्ण निर्णय है। आला अधिकारियों से शिकायत करेंगे।

कुंवर दानिश अली, सांसद, अमरोहा।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस