मुरादाबाद, जेएनएन। लखनऊ में शुक्रवार को हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड को अंजाम देने वालों की तलाश में पुलिस तेजी से लगी है। इसी क्रम में पुलिस को कुछ संदिग्धों के गोरखपुर से देहरादून जा रही राप्ती-गंगा एक्सप्रेस में होनी की सूचना मिली। इसी सूचना पर पांच संदिग्धों को मुरादाबाद में एसटीएफ, रामपुर और मुरादाबाद पुलिस ने ट्रेन से उतारा है। पुलिस पांचों से पूछताछ कर रही है।

मुरादाबाद के एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि कमलेश तिवारी की हत्या के बाद पूरे प्रदेश में संदिग्धों के फोटो जारी किए गए थे। एसटीएफ को सूचना मिली कि गोरखपुर से देहरादून जाने वाली ट्रेन में पांच संदिग्ध हैं। इस सूचना पर रात में ही एसटीएफ मुरादाबाद आ गई और कटघर थाने में डेरा डाल दिया। सुबह नौ बजे करीब ट्रेन कटघर स्टेशन के पास पहुंची तो टीमों ने ट्रेन की घेराबंदी की। ट्रेन के आने से पहले ही स्टेशन पर बड़ी संख्या में फोर्स तैनात था।

ट्रेन के रुकने के साथ भी डिब्बों में पुलिस के जवान चढ़ गए और यात्रियों से उनके आइकार्ड चेक किए। इसमें पांच लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लिया गया। सभी साधू के कपड़े में थे। एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि ट्रेन को कटघर स्टेशन पर रोककर चेकिंग कराई गई थी। इसमें पांच लोग संदिग्ध पाए गए। इनको पुलिस लाइन लाकर पूछताछ की जा रही है। रामपुर एसपी अपनी टीम के साथ शामिल थे। इसके अलावा एसटीएफ और मुरादाबाद पुलिस भी मौजूद रही। उन्होंने कहा कि पूछताछ जारी है। अभी कुछ नहीं जा सकता लेकिन, कुछ महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं। एसपी ने बताया क‍ि सभी से पूछताछ के बाद छोड़ द‍िया गया।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप