मुरादाबाद, जेएनएन। पांच महीने में सरसों के तेल के टीन 1000 रुपये दाम बढ़े और उतरे मात्र 200 रुपये। इससे प्रति किग्रा 13 रुपये कम हुए हैं। यही हाल रिफाइंड का है। पांच महीने में रिफाइंड 2450 रुपये प्रति कनस्तर तक पहुंच गया और इस पर अब आकर 200 रुपये कनस्तर उतरे हैंं। इससे प्रतिकिग्रा 15 रुपये थोक में गिरे हैं। फुटकर की बात करें तो पांच महीने पहले सरसों का ब्रांडेड तेल 95 रुपये किग्रा था। ब्रांडेड रिफाइंड भी 90 रुपये किग्रा था। लेकिन, पांच महीने में 180 रुपये किग्रा तक पहुंचा तब जाकर 15 रुपये नीचे आए हैं। लेकिन, सरसों के तेल व रिफाइंड पर 13 से 15 रुपये की गिरावट राहत नहीं दे रही है।

पांच महीने में सरसों व रिफाइंड के दामों पर महंगाई दोगुनी हो गई। दालों पर भी पांच रुपये की गिरावट आई है। छह महीने पहले सभी दाल 80 से 85 रुपये प्रति किग्रा मिल रही थीं। लेकिन, अब 100 से 120 रुपये तक दालें पहुंच गई हैं। दालों पर पांच रुपये की राहत से आम जनता का भला नहीं होने वाला है। महंगाई ने परिवारों की सेविंग कर दी है। वेतन भोगी, मजदूर से लेकर मध्यम कारोबारी परेशान हैं। कटरा में थोक तेल के कारोबारी अंचित अग्रवाल कहते हैं कि तेल व रिफाइंड पर क्रमश: 13 से 15 रुपये प्रतिकिग्रा के हिसाब से थोक में आई है। इससे फुटकर में भी तेल के दामों में कर्मी आई है।

तेल व दालों पर महंगाई

दाल            पहले                        अब

अरहर          80-100                  90-110

चना             80-100                 90-110

मूंग की धुली दाल 90-100           100-110

उड़द की धुली दाल 80 -105         100-120

राजमा चित्रा 110-120                  130-140

राजमा काला 90-100                    100-110

चने की दाल 65-70                        70-75

मलका 70-80                                80-90

नोट- यह दाम फुटकर में हैं।सरसों का तेल : पहले अब 180 167 रिफाइंड 179 164

 

Edited By: Narendra Kumar