मुरादाबाद, जेएनएन। सरकार व रेलवे इन दिनों उत्तराखंड पर मेहरबान है। रेलवे के विकास के लिए विशेष बजट का प्रावधान क‍िया गया है। इसके तहत देहरादून स्टेशन का कायाकल्प करने के लिए 212 करोड़ रुपये का बजट उपलब्ध कराया गया है।

देहरादून रेलवे स्टेशन सौ साल से अधिक पुराना स्टेशन है। इसलिए देहरादून स्टेशन को राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया गया है। रेलवे देहरादून स्टेशन के मूल ढांचेे को बिना बदले ही इसका कायाकल्प करने जा रहा है। इसके लिए 212 करोड़ रुपये का बजट द‍िया गया है। इसमें प्लेटफार्म का विस्तार, यात्रियों के लिए आधुनिक सुविधा, सरकुलेटिंग एरिया का विकास आदि पर काम होना है। रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने आनलाइन कोटद्वार से दिल्ली के लिए सिद्धबली जन शताब्दी एक्सप्रेस के शुभारंभ समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तराखंड में रेलवे कई योजना शुरू करने जा रहा है। इसके लिए 2232 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है। यह वर्ष 2009-2014 के बजट से 23 गुना अधिक है। कोटद्वार-नजीबाबाद के बीच 15 किलोमीटर रेलवे लाइन विद्युतीकरण का काम पूरा हो चुका है। तकनीकी कारण से इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेन नहीं चलाया जा रही है। 15 दिन के अंदर तकनीकी कमियों को दूर कर दिया जाएगा और इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा। उत्तराखंड से चलने वाली ट्रेनों से पुराने कोच हटाए जा रहे हैं। इसके स्थान पर आधुनिक सुविधा वाला एलएचबी कोच लगाए जा रहे हैं। इससे उत्तराखंड के वासी ट्रेन में आराम से सफर कर पाएंगे और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंच पाएंगे। प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा ने बताया कि कुंभ मेले को लेकर ज्वालापुर, मोतीचूर का विकास भी किया जा चुका है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021