मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। थाना कटघर क्षेत्र के ताजपुर माफी गांव में धोखाधड़ी करके दो लोगों ने करोड़ों रुपये कीमत की जमीन पर कब्जा कर लिया। पीड़ित को मामले का पता तब चला जब वह पीएम किसान सम्मान निधि के तहत भेजी गई धनराशि के बारे में पता करने तहसील गया। पीड़ित की तहरीर पर कटघर पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है।

गांव ताजपुर माफी निवासी मुकेश कुमार के अनुसार उसके पिता राजपाल सिंह के नाम आठ बीघा जमीन थी। जमीन बेचने के लिए मुहम्मद मुस्तकीम व उसके साथी मुहम्मद मियां उर्फ भूरा इरफान ने पांच अक्टूबर 2017 को एग्रीमेंट किया कि सात महीने में पांच बीघा भूमि के पैसे दे देंगे। उन्होंने कहा था कि इस भूमि पर प्लाटिंग करेंगे और कई लोगों का प्लाट तय करके एक साथ बैनामा करा लेंगे। आरोप है कि इन लोगों ने 20 मार्च 2018 को चार बैनामे कराए मगर उसके पिता को एक पैसा नहीं दिया। उसके पिता का नौ अप्रैल 2020 को देहांत हो गया। लाकडाउन के चलते वह अपनी वरासत दर्ज नहीं करा सके। पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा निकालने के लिए 17 अगस्त 2020 को पीड़ित कचहरी गया तब उसे पता चला कि आरोपितों ने धोखाधड़ी कर उसके पिता से पांच बीघा भूमि का बैनामा करा लिया है। खतौनी में भी खातेदार के रूप नाम दर्ज करा ली। जबकि उसके पिता ने आरोपितों को मात्र तीन बीघा जमीन का ही सौदा किया था।

एसएसपी के आदेश पर लिखा गया मुकदमा : मुकेश कुमार ने बताया कि इस भूमि की कीमत करीब पौने दो करोड़ है। आबादी की जमीन को आरोपितों ने कूट रचित कागज तैयार कर कृषि भूमि में दर्ज करा लिया। पीड़ित ने तीन मार्च को मुहम्मद मियां और इरफान से इस बारे में बात की तो धमकी दी कि यदि बैनामे में रुकावट डाली तो उसे जान से मार देंगे। तब मुकेश कुमार ने एसएसपी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई। एसएसपी पवन कुमार के आदेश पर कटघर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Edited By: Narendra Kumar