मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। अमरोहा के जोया में गोकुशी व गैंगस्टर एक्ट के आरोपित ग्राम प्रधान के घर पुलिस व प्रशासनिक अफसरों ने कुर्की की कार्रवाई की। पुलिस अधीक्षक पूनम की मौजूदगी में मुनादी करा कर आरोपित की 67.50 लाख रुपये की चल-अचल संपत्ति कुर्क की गई है। फिलहाल भूरा जेल में बंद हैं। इस दौरान गांव में भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा।

यह मामला डिडौली कोतवाली क्षेत्र के गांव असगरीपुर का है। यहां के ग्राम प्रधान भूरा के खिलाफ गोकुशी, गैंगस्टर व गुंडा एक्ट समेत कुल 18 मुकदमे दर्ज हैं। डिडौली कोतवाली के अलावा नौगावां सादात, रजबपुर व गजरौला, हापुड़, गाजियाबाद, राजस्थान, हरियाणा व पंजाब में भी उसके खिलाफ मुकदमे दर्ज हैं। बीते पंचायत चुनाव में जिला बदर होने के बाद भी वह चुनाव लड़ा था तथा प्रधान बन गया था। परंतु बाद में तत्कालीन एसपी सुनीति के संज्ञान में मामला आया तो उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार को सस्पेंड तथा हल्का प्रभारी पप्पू जादौन को लाइन हाजिर किया था। उसके बाद आरोपित प्रधान भूरा को अप्रैल माह में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसके बाद से पुलिस प्रशासन भूरा द्वारा गोकुशी के माध्यम से अर्जित की गई संपत्ति का ब्यौरा जुटाने में लगा था। इस क्रम में एसपी पूनम, एसडीएम विवेक यादव, सीओ विजय कुमार राणा, डिडौली प्रभारी निरीक्षक मोहित चौधरी व नौगावां सादात प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार समेत भारी मात्रा में पुलिस बल असगरीपुर पहुंचे। यहां धारा 14(1) के तहत मुनादी करा कर उसके द्वारा अर्जित की गई लगभग 67.50 लाख रुपये की संपत्ति कुर्क की गई। एसपी ने बताया कि कुर्क की गई संपत्ति में 32 लाख रुपये की कीमत का मकान, सात लाख रुपये कीमत की दुकान, लगभग 22 लाख रुपये कीमत की पुश्तैनी जमीन तथा 6.50 लाख रुपये कीमत की कार शामिल हैं। 

Edited By: Narendra Kumar