मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुरादाबाद, जेएनएन। बदला लेना हर बार सही नहीं होता।

लेकिन माफ कर देना भी हर बार सही नहीं होता।।

हिसक होते समय में बदला और माफी दोनों ही काफी प्रासंगिक हो गए हैं। व्यक्तिगत स्तर से लेकर सार्वजनिक मंच पर बदले और माफी को लेकर हर समय बहस होती है। अमिताभ बच्चन और तापसी पन्नू की अभिनीत फिल्म 'बदला' दर्शाती है कि किस हद तक माफी जायज है और किस सीमा के बाद बदला लेना सही है। जनपद की कई घटनाएं भी इस फिल्म की कहानी के इर्द गिर्द घूम रही है। कई मामलों में एक दूसरे को माफ कर दिया है, जबकि कुछ ऐसे मामले है, जहां बदले की आग अभी भी धधक रही है। पुलिस उन मामलों को लेकर संवेदनशील भी है। आइए बदला और माफी की इस जुगलबंदी के मामलों से आपको अवगत कराते है, जिन्होंने केस को थाने की चारदीवारी में पहुंचाने के बाद भी बदला लिया है। बदले की आग में मां के खून से रंग लिए हाथ बिलारी के विजयपुर निवासी 65 साल की रामकली की हत्या बेटे ने की। मां की हत्या का सौदा नौ लाख में तय करने के बाद दोस्त के साथ मिलकर मौत के घाट उतार दिया। ईट भट्ठा व्यवसायी विपिन यादव समसपुर, विजयपुर के ग्राम प्रधान हरज्ञान, पिंटू ठाकुर निवासी जरगाव, अमरपाल व राजू निवासी विजयपुर से बदला लेने के लिए हत्या की स्क्रिप्ट तैयार की गई थी। रामकली की हत्या करने के बाद आरोपितों ने खुद को गोली मार ली थी। बेटे बद्रीप्रसाद और उनके दोस्त रनवीर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। छात्रा का चेहरा तेजाब फेंककर बिगाड़ने की धमकी कटघर थाना के लाजपतनगर चौकी क्षेत्र निवासी 13 वर्षीय किशोरी कक्षा सातवीं की छात्रा है। छात्रा के पिता ने बताया कि आठ फरवरी को युवक ने छात्रा की मा के मोबाइल पर वाट्सएप मैसेज भेजकर उससे जबरन दोस्ती की मांग की। छात्रा ने मामले की जानकारी परिवार को दी। उसी का बदला लेने के लिए आरोपित ने छात्रा के चेहरे पर तेजाब फेंकने की धमकी दे डाली। छात्रा के पिता की तहरीर पर पुलिस मामले की जांच कर रही है। मुकदमे की गवाह दो बहनों पर हमला कटघर के रहमत नगर में रहने वाली युवती ने 2017 में छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया था। मुकदमा हाल ही में ट्रायल पर चल रहा है, जिसमें रहमतनगर की दो बहने तब्बसुम और तरन्नुम गवाह है। जमील पक्ष के लोग लगातार दोनों बहनों पर गवाही नहीं देने का दबाव बना रहे थे। दोनों ने इन्कार कर दिया। उसकी का बदला लेने के लिए जमील पक्ष के घर में घुसकर दोनों बहनों पर जानलेवा हमला कर दिया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

छात्रों की मारपीट के बाद थाने में मांगी माफी रामगंगा विहार में पान की दुकान के सामने दो पब्लिक स्कूलों के छात्रों में जमकर मारपीट हुई। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों के छात्रों के अभिभावक भी लपेटे में आ गए। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ थाने में तहरीर दी। एक पक्ष के छात्र के पिता भाजपा में कद्दावर नेता हैं, जो अपने कार्यकर्ताओं के साथ थाने पहुंचे। कई घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद दोनों पक्षों ने कार्रवाई से इन्कार कर दिया। बल्कि एक दूसरे को माफ कर समझौता किया। तत्काल कार्रवाई के निर्देश संजॉय घोष की मूवी बदला हर रोज की कहानी पर आधारित है। पुलिस यदि समय पर कार्रवाई करती तो बदला लेने की जरुरत नहीं पड़ती। ऐसे में सभी लंबित घटनाओं में पुलिस को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए है। ताकि लोगों को खुद बदला लेने की जरुरत नहीं पड़े।

जे रविन्दर गौड, एसएसपी

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप