मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अमरोहा। साहब, मेरी प्रेमी को छोड़ दीजिए। वरना मुझे थाने में ही गोली मार दीजिए। यह बात गजरौला के थाने में जब एक प्रेमिका ने कही तो लोग दंग रह गए। पुलिस ने युवती को समझाकर शांत किया। बाद में ग्राम प्रधान व प्रेमी के परिजनों को थाने बुलाकर और उसे कार्रवाई की हिदायत देकर छोड़ दिया। इसके बाद मामला शांत हुआ।

वाकया यह है कि जनपद मऊ की रहने वाली एक युवती दिल्ली में कोङ्क्षचग करती थी। उसे वहां पर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक से प्रेम हो गया। करीब चार माह पूर्व युवक युवती को लेकर अपने गांव आ गया और घर पर रहने लगे। गांव में युवक के घर पर उसके एक दोस्त का भी आना-जाना हो गया। इतना ही नहीं युवक का दोस्त भी उसकी प्रेमिका से दिल लगा बैठा और फोन पर बात होने लगीं। इसका जानकारी युवती के प्रेमी को हुई तो उसने न सिर्फ दोस्त के साथ मारपीट की बल्कि प्रेमिका को भी पीट दिया। घटना की जानकारी होने पर 100 डायल पुलिस गांव पहुंच गई। पुलिस प्रेमी व उसके दोस्त के पिता को उठाकर थाने ले आई। गुरुवार की रात करीब दस बजे युवती थाने पहुंची और एसएसआइ प्रमोद पाठक से प्रेमी को छोडऩे के लिए गुहार लगाने लगी। नहीं छोडऩे की बात कहने पर युवती में रोष उत्पन्न हो गया और उसने कहा कि साहब, मेरे प्रेमी को छोड़ दो या फिर मुझे भी यही थाने में ही गोली मार दीजिए। यह बात सुनकर थाने में बैठे पुलिस कर्मी दंग रह गए। बाद में गांव के प्रधान व प्रेमी के परिजनों को बुलाकर उनके सुपुर्द कर दिया। 

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप