मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Thakurdwara PRV Muzaffarnagar Fake police personnel Inquiry : मुरादाबाद पुलिस व‍िभाग में ज‍िस तरह से फर्जी पुलिस कर्मी नौकरी करते हुए पकड़ा गया उससे पूरी व्‍यवस्‍था पर ही बड़े सवाल खड़े हो गए हैं। अब जैसे-जैसे जीजा और साले के इस फर्जीवाड़े की जांच आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे कई चौंकाने वाली बातें भी सामने आ रहीं हैं। दरअसल जीजा ने साले को न स‍िर्फ‍ फर्जी पुलिस कर्मी बनने के ल‍िए तैयार क‍िया था बल्कि उसे हर महीने इसके ल‍िए रुपये भी देता था। मामला सामने आने पर पुलिस व‍िभाग अलर्ट मोड पर है। पीआरवी के स‍िपाह‍ियों का डाटा चेक क‍िया जा रहा है।

पीआरवी में फर्जी सिपाही के पकड़े जाने के बाद पुलिस विभाग में जांच का सिलसिला शुरू हो गया है। डायल 112 के प्रभारी एएसपी अनिल कुमार यादव ने जनपद के 73 पीआरवी में तैनात सिपाहियों का डाटा जांचने का काम शुरू कर दिया है। शुक्रवार को एक-एक करके पीआरवी के सिपाहियों को बुलाकर उनकी फाइल को चेक करने का काम किया गया। एएसपी ने बताया कि वह इस मामले को लेकर सतर्कता बरत रहे हैं। पीआरवी में तैनात सिपाहियों के साथ थाने और लाइन के सिपाहियों का डाटा चेक किया जाएगा। 

एक तस्‍वीर से खुल गई पोल : कई वर्षों से यह फर्जीवाड़ा चल रहा था, आगे भी यह जारी रह सकता था लेकिन इंटरनेट मीडिया वाटसएप के प्रोफाइल के ल‍िए अपलोड की गई तस्‍वीर से पूरे मामले की पोल खुल गई। अब मामला सामने आने पर अफसर भी हैरान हैं। 

पकड़े जाने का नहीं था डर : पुलिस की फर्जी नौकरी करते-करते आरोप‍ित सुनील बेखौफ हो चुका था। उसे खुद के पकड़े जाने का जरा भी डर नहीं था। यही वजह रही क‍ि जीजा की ह‍िदायत के बावजूद उसने लापरवाही बरती। मामला शहर ही नहीं बल्कि पूरे सूबे में चर्चा में है।

​​​​​यह भी पढ़ें :-

UP Police : पुलिस व‍िभाग में बड़ा फर्जीवाड़ा, मुरादाबाद में पांच साल से जीजा की जगह साला कर रहा था नौकरी

Fraud in UP Police : आठ हजार रुपये प्रतिमाह देकर साले को बनाया था फर्जी पुलिस कर्मी, सेल्यूट और सलामी का दिया था प्रशिक्षण

Indian Railways : रेलवे ने यात्र‍ियों को दी बड़ी राहत, जल्‍द चलने लगेंगी ये 42 ट्रेनें, यहां देखें पूरी सूची

 

Edited By: Narendra Kumar