मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Fraud From Cricket Players : भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल कराने के नाम पर खिलाडिय़ों से धोखाधड़ी के मामले में  शहर न‍िवासी व बंगाल का रणजी खिलाड़ी दानिश मिर्जा एवं अंडर-19 खेल चुके अनुराग को गुरुग्राम पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा-दो ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाया गया था। शहर में दान‍िश के नेटवर्क की जांच शुरू कर दी गई है।

पूछताछ के दौरान अनुराग के खाते में एक लाख 75 हजार रुपये जमा कराए जाने की बात सामने आई। जबक‍ि दान‍िश के खाते में एक लाख रुपये जमा कराए गए थे। साथ ही लगभग चार लाख रुपये नकद लेने की भी चर्चा है। अब मुरादाबाद में भी दान‍िश का नेटवर्क खंगाला जा रहा है। यहां की पुलिस से संपर्क साधा गया है।  अनुराग मुजफ्फरनगर का, जबकि दानिश मिर्जा मुरादाबाद का रहने वाला है। दानिश मिर्जा बंगाल से रणजी खेलता था। बताया जाता है कि इसकी मुरादाबाद में एक क्रिकेट एकेडमी भी है। दोनों को अदालत में पेश किया गया, जहां से न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। मामले में अब तक हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में संचालित एक क्रिकेट एकेडमी में प्रशिक्षक अजय कुमार के अलावा उत्तराखंड के देहरादून में संचालित एक क्रिकेट एकेडमी में प्रशिक्षक कुलबीर रावत, गुरुग्राम के न्यू पालम विहार निवासी आशुतोष बोरा, चित्रा बोरा एवं राजस्थान के गंगानगर निवासी नितिन कुमार की गिरफ्तारी हो चुकी है। मामले में 14 आरोपित हैं।

गौरतलब है कि इसी साल 24 अगस्त को खिलाडिय़ों के साथ धोखाधड़ी किए जाने का भंडाफोड़ न्यू पालम विहार में रह रहे मूलरूप से जालौन जिले के गांव पिप्रया निवासी अंशुल राज के द्वारा शिकायत देने से हुआ था। उससे नौ लाख रुपये की ठगी की गई थी। वैसे कुल 14 खिलाडिय़ों से एक करोड़ 30 लाख रुपये की ठगी की गई थी। अब तक 14 आरोपितों के नाम सामने आ चुके हैं। आरोपितों में दिल्ली में क्रिकेट एसोसिएशन से जुड़े दो चर्चित व्यक्ति भी शामिल हैं। दोनों को नोटिस जारी किए गए हैैं। वह पूछताछ में शामिल होने से बच रहे हैं। यही नहीं कई अन्य आरोपित भी पूछताछ में शामिल नहीं हो रहे हैं। जांच अधिकारी एसआइ उमेश कुमार का कहना है कि पूछताछ मेें सभी को शामिल होना ही होगा। जिसकी भी भूमिका सामने आएगी, उसे गिरफ्तार किया जाएगा। दान‍िश मुरादाबाद का जाना-पहचाना नाम है। क्र‍िकेट ख‍िलाड़ी के तौर पर उसने अपनी पहचान बनाई है। वह कई देशों में क्र‍िकेट टूूूूूूूर्नामेंट खेल चुका है। 

इस एंगल से भी छानबीन : पीडि़त खिलाड़ी अंशुल राज के अधिवक्ता उमर सिद्दीकी का दावा है कि दानिश मिर्जा के संपर्क में कई खिलाड़ी थे। वह क्लब क्रिकेट खिलाने के नाम पर खिलाडिय़ों को विदेश ले जाता था। इस दृष्टिकोण से भी आर्थिक अपराध शाखा-दो छानबीन कर रही है। 

Edited By: Narendra Kumar