मुरादाबाद : गलत आधार कार्ड नंबर फीड होते ही सिस्टम ऑनलाइन राशन देना बंद कर देगा। गरीबों का राशन हड़पने का मामला सामने आने के बाद सतर्कता बरती जा रही है। फर्जी कार्ड पकड़ने के लिए एनआइसी ने सिस्टम को अपग्रेड कर दिया है। एनआइसी लखनऊ से राशन वितरण प्रणाली की जांच कर रही थी। मुरादाबाद महानगर समेत प्रदेश के सभी जिला मुख्यालय में राशन का वितरण प्वाइंट आफ सेल्स (पीओएस) मशीन से किया जाता है। राशन कार्ड धारक मशीन पर अंगूठा लगाते हैं। मिलान होने के बाद ही सिस्टम राशन देने का आदेश देता है। महानगर के 38 राशन दुकानदारों ने आपूर्ति विभाग के कर्मचारियों से साठगांठ कर ली है। दूसरे का आधार कार्ड नंबर फीड कर 15 सौ गरीबों का खाद्यान्न हड़प लिया। इस मामले में आपूर्ति विभाग ने महानगर के 38 राशन दुकानदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इसके बाद से एनआइसी ने सिस्टम को अपग्रेड कर दिया है, दूसरे का आधार कार्ड नंबर राशन कार्ड से जोड़ा जाता है तो सिस्टम राशन की आपूर्ति बंद कर देगा। जिला पूर्ति अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि राशन दुकानदारों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। संदेह होने पर राशन उपलब्ध नहीं कराएं और तत्काल इसकी सूचना आपूर्ति विभाग को दें।

हड़ताल करेंगे राशन डीलर

राशन दुकानदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के विरोध में दुकानदारों ने मंडी समिति स्थित गोदाम पर प्रदर्शन किया और हड़ताल पर जाने की घोषणा की है। इस बीच, राशन उठाने वाले दुकानदारों को रोकने का प्रयास किया।

मंगलवार को कुछ राशन दुकानदारों ने खुद को आल इंडिया फेयर प्राइस शॉप डीलर फेडरेशन का सदस्य बताकर मंडी समिति स्थित गोदाम पर प्रदर्शन करते हुए राशन उठाकर ले जाने वाले राशन डीलरों को रोकने का प्रयास किया और ट्रैक्टर के आगे लेट गए। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि गलत आधार फीड करना, राशन में हेराफेरी करने का काम जिला पूर्ति अधिकारी कार्यालय के कर्मियों ने किया है। इसमें राशन डीलरों का दोष नहीं हैं, क्योंकि पीओएस मशीन के आदेश मिलने पर ही उपभोक्ता को खाद्यान्न का वितरण करता है। ऐसे में राशन में हेराफेरी करने में आपूर्ति विभाग के कर्मचारी व आपरेटर दोषी है, उसके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कहा कि जब तक मुकदमा वापस नहीं लिया जाता है, तब तक राशन दुकानदार हड़ताल पर रहेंगे। प्रदर्शन में राम बहादुर कश्यप, दिलशाद हुसैन, कामेश ठाकुर, संजीव भटनागर, नरेश जाटव, आरिफ, समीर सिंह आदि थे। जिला पूर्ति अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि 80 फीसद दुकानदारों ने खाद्यान्न उठा भी लिया है। पांच सितंबर के बाद खाद्यान्न का वितरण नियमित रुप से किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस