मुरादाबाद, जेएनएन। उन्नीस बरस तक बेटी को नाजों से पाला। उसके सपनों में रंग भरे। जो मांगा उसे पूरा करने में नहीं छोड़ी कोई कसर। बारी उसकी जिंदगी के नए सफर की आई तो कई जिले छान मारे। दूसरे प्रदेश तक दौड़ लगाई और आखिर में उसके लिए उत्तराखंड से चुना एक वर...। 20 जून को शहनाई बजनी थी। बेटी को दुल्हन बनते देखने की पिता की खुशी का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि वे खुद ही खुशियां (शादी के कार्ड) दोस्तों-रिश्तेदारों को बांटते घूम रहे थे लेकिन अफसोस...। सोमवार को घर लौटते वक्त उसी बेटी का बेजान शरीर सरेआम सड़क पर पड़ा मिला। यह देख पिता के पैरों तले जमीन ही खिसक गई। आंसू बनकर फूट पड़ा दर्द का दरिया। उसे गोद में उठाकर बोल बस इतने ही फूटे 'मैं सिर्फ हाथों पर मेहंदी रचाना था तुम्हारे मगर, बिन प्राण के पूरा शरीर पीला मिलेगा यह तो सपने में भी न सोचा...।'

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में ठाकुरद्वारा थाना क्षेत्र के सुरजन नगर में लालापुर पीपलसाना गांव के पास 14 जून की शाम को एक युवती का शव पड़ा था। पूरा शरीर पीला पड़ चुका था। पुलिस शव की शिनाख्त करने की कोशिश में जुटी थी। सड़क किनारे लोगों का हुजूम लगा था। इसी भीड़ से एक व्यक्ति शव देखने के लिए आगे बढ़ा तो पुलिस ने उसे पीछे हटा दिया लेकिन, उसने जिद पकड़ ली कि एक बार शव को जरूर देखूंगा। यह सोचकर कि पता नहीं कौन होगा? कोई परिचित न हो। उसकी इच्छा देख पुलिस वाले भी पसीज गए। शव से कपड़ा हटा दिया मगर, उसके बाद जो हुआ उसे सुन-देखकर हर कोई अवाक रह गया। वास्तव में वही शख्स मृत लड़की के अभागे पिता मदनपाल थे। घटनास्थल पर जहां कुछ देर तक कौतूहल था, वहां चीत्कार गूंजने लगी। बेटी टीना के शव से लिपट गए मदनपाल।

एक हाथ में कार्ड, गोद में शव : मदनपाल की स्थिति देख हर कोई द्रवित हो उठा। दरअसल, जिस वक्त वे टीना का शव उठाकर गोद में रख रहे थे, उस वक्त उनके एक हाथ में शादी के कार्ड थे।

शेरवानी पसंद कराने के बहाने ले गया मंगेतर और मार डाला : सीओ ठाकुरद्वारा डॉ. अनूप कुमार ने बताया कि टीना की शादी जतिन सिंह निवासी सी- 293 नई बस्ती हाइड्रिला का नूनगढ़ चौराहा थाना, कालागढ़, पौड़ी गढ़वाल उत्तराखंड के साथ तय हुई थी। 20 जून को शादी की तारीख तय थी। घर वाले शादी की तैयारियों में व्यस्त थे। 14 जून को अचानक मंगेतर जतिन गांव में पहुंच गया और वह टीना को शेरवानी पसंद कराने के बहाने मोटरसाइकिल पर अपने साथ ले गया। इस दौरान गांव के पास ही गमछे से गला घोंटकर हत्या कर दी। पुलिस ने 24 घंटे में आरोपित को पकड़कर जेल भेज दिया। इस घटना ने पूरे परिवार को हिलाकर रख दिया था। घर में दहेज के सामान की खरीददारी हो चुकी थी।

एक बार कह देता तो हम तोड़ देते रिश्ता, बहन तो जिंदा होती : बुधवार को मृतका के भाई दिशू ने बताया कि अगर आरोपित जतिन एक बार परिवार के लोगों से बात करके इस रिश्ते से इन्कार कर देता तो, हम कभी ऐसा नहीं करते। दोनों परिवारों की रजामंदी के बाद ही रिश्ता तय हुआ था।

मुझे पता होता तो बेटी को नहीं भेजती : टीना की दादी चूल्हा कोठी दिखाते हुए कहती हैं कि मुझे मालूम होता कि जतिन इतना जालिम निकलेगा, तो उसके साथ मैं बेटी को कभी न भेजती। हमारी बेटी का तो कोई दोष भी नहीं था। पसंद न आने की बात पर हत्या करने वाले को भगवान कभी माफ नहीं करेगा। बुधवार की शाम टीना के स्वजन ठाकुरद्वारा कोतवाली पहुंचे। पुलिस से कहा कि हत्या में अकेला जितिन नहीं है। अन्य भी हैं जिनकी गिरफ्तारी की जाए।

Edited By: Umesh Tiwari