अमरोहा,जेएनएन।  फुंके ट्रांसफार्मर को नहीं बदलने से गुस्साए किसानों ने बुधवार को मूंढाखेड़ा बिजलीघर का घेराव किया और चार घंटे तक हंगामा किया। पता चलते ही पहुंचे एडीएम गुलाब चंद्र ने किसानों से पूरी स्थिति जानी और उनको दस दिन के भीतर नया ट्रांसफार्मर रखने का भरोसा दिलाया। इस पर किसान राजी हो गए और धरना समाप्त कर दिया। 

मूंढाखेड़ा बिजलीघर में दस-दस एमवीए के दो ट्रांसफार्मर रखे हैं। इनमें से एक छह मई को फुंक गया। इसको बदलवाने के लिए क्षेत्र के किसानों ने बिजली विभाग के अफसरों से बातचीत की थी लेकिन, सुनवाई नहीं हुई। इससे भड़के किसान सुबह दस बजे भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के जिलाध्यक्ष डूंगर ङ्क्षसह के नेतृत्व में बिजलीघर पहुंच गए और स्टाफ का घेराव कर धरने पर बैठ गए। हंगामा करने लगे।

इधर धरने की खबर मिलते ही पुलिस व प्रशासनिक अफसरों में हड़कंप मच गया। अपर जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी इंद्रनंदन ङ्क्षसह, अधीक्षण अभियंता रजत जुनेजा मौके पर पहुंच गए। किसानों से वार्ता की। इस बीच एडीएम ने उनको 10 दिन के अंदर टीएफ बदलवाने का आश्वासन दिया। जिस पर किसान राजी हो गए और धरने से उठ गए। 

लॉकडाउन का नहीं किया पालन

बिजलीघर पर करीब डेढ़ सौ से अधिक किसान धरने में शामिल हुए। इनके द्वारा लॉकडाउन की शर्तों का पालन नहीं किया गया। शारीरिक दूरी का भी ख्याल नहीं रखा गया। मॉस्क का भी प्रयोग तमाम किसानों द्वारा नहीं किया गया। हालांकि, उनकी परेशानी जायज थी लेकिन, सरकार लॉकडाउन का पालन भी जरूरी था। जो उनके द्वारा नहीं किया गया। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस