मुरादाबाद । रामपुर में  गुरुवार को गांव सोनकपुर निवासी किसान फुरकान अली, रामपाल, अब्वास अली, नदीम कोसी नदी पार खेतों से चारा लेने के लिए जंगल में गए थे। चारा लेकर लौटते समय किसान जैसे ही कोसी नदी पार कर गांव के निकट पहुंचे तो गन्ने के खेत से तेंदुए को निकलते देख पसीने-पसीने हो गए। किसान घबराकर सिर पर रखे चारे को फेंक खेतों में छिपकर जान बचाई। किसी तरह गांव पहुंच ग्रामीणों को जंगल में तेंदुआ होने की जानकारी दी। तेंदुए के जंगल में होने की सूचना आसपास के गांवो में फैल गई थी। मस्जिदों से ऐलान करवा किसानों व बच्चों को जंगल में न जाने की हिदायत दी गई थी।

तेंदुआ म‍िलने की नहीं हो पाई पुष्‍ट‍ि

तेंदुए की तलाश में ग्रामीण एकत्र हो जंगल पहुंचे, लेकिन तब तक तेंदुआ फरार हो चुका था। ग्रामीणों ने सूचना वन विभाग को दी, लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। शुक्रवार को तेंदुए की तलाश में पहुंची वन विभाग कर्मी एम यादव व भोले खां ने ग्रामीणों के साथ जंगल में कांब‍िग  की। इस दौरान टीम को जंगल में जंगली जानवर के पद चिह्न तो मिले, लेकिन तेंदुए की पुष्टि नहीं हो सकी। दूसरे दिन भी ग्रामीणों में तेंदुए की दहशत का भय बना रहा। अधिकतर किसान अपने खेतों पर न पहुंचने के साथ ही बच्चों को घरों से बाहर नहीं निकालने दिया। ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है। वनकर्मी ने बताया कि जंगल में कांब‍िग की गई, लेकिन तेंदुआ होने की पुष्टि नहीं हो सकी है।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस