मुरादाबाद, जेएनएन। Parole Period of inmates Extended : कोरोना महामारी के साथ ही देश में ओमिक्रोन के मरीज भी मिलने शुरू हो गए थे। नए मामलों की जानकारी के बाद जेल प्रशासन के अफसर सतर्कता बरते हुए पेरोल बढ़ाने का निर्णय लिया है। मुरादाबाद जिला जेल से पूर्व में छोडें गए 74 बंदियों की पेरोल को 90 दिनों के लिए और बढ़ा दी गई थी। हालांकि, इन बंदियों को वापस बुलाने के लिए जेल प्रशासन काफी दिनों से प्रयास कर रहा था। लेकिन शासन से निर्देश आने के बाद वापस बुलाने की कार्रवाई को रोक दिया गया है।

कोरोना महामारी के प्रथम चरण में शासन ने बंदियों को पेरोल पर रिहा किया था। अवधि पूरी होने के बाद कुछ बंदियों ने जेलों में वापस आ गए थे। जबकि 74 बंदी ऐसे थे, जो पेरोल की अवधि समाप्त होने के बाद भी कारागार में वापस नहीं पहुंचे थे। बीते एक सप्ताह में अचानक देश में ओमिक्रोन के बढ़ते हुए मामलों को देखकर शासन ने छोटे गए बंदियों की पेरोल अवधि को बढ़ाने का निर्णय लिया। सूबे के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने डीजी जेल को पत्र लिखकर बंदियों की पेरोल अवधि को 90 दिनों के बढ़ाए जाने के निर्देश दिए है। इस आदेश का तत्काल प्रभाव से सभी जेल में लागू कर दिया गया। जेलर मृत्युंजय पांडे ने बताया कि 74 बंदी पेरोल समाप्त होने के बाद भी वापस नहीं लौटे थे। अब उन्हीं बंदियों की पेरोल 90 दिनों तक बढ़ा दी गई है। वहीं कारागार में महामारी से बचने के लिए नियमों का पालन किया जा रहा है।

Edited By: Samanvay Pandey