मुरादाबाद,जासं : मुख्य विकास अधिकारी आनंद वर्धन ने कहा कि परिचय हो चुका है। मैंने अपने काम का तरीका सबको बता दिया है। अधिकारी समय से दफ्तर आने की आदत डालें। विकास कार्यों को प्राथमिकता में रखकर कार्य करें। अब किसी भी स्तर पर बहानेबाजी नहीं चलेगी। अगली बैठक में योजनाओं को लेकर संतोषजनक जवाब न मिलने पर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

विकास भवन सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में सीडीओ ने कहा कि शासन के आदेश पर पंचायती राज विभाग द्वारा जनपद के सभी ब्लॉकों की ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय व पंचायत भवन बन रहे है। अब तक पूरे जनपद में 188 शौचालय और 13 पंचायत भवन बन चुके है। जिले में 28 शौचालयों और 63 पंचायत भवनों के लिए अभी तक जमीन नहीं मिल पाई है। इसके लिए खंड विकास अधिकारियों के स्तर से प्रयास होने चाहिए। लेखपालों की मदद से ग्राम पंचायत विकास अधिकारी ऐसे किसानों से बात करें जो सामुदायिक शौचालय व पंचायत भवन बनाने के लिए जमीन दान दे सकते हैं। पंचायत भवन बनाने के लिए 100 वर्ग मीटर व शौचालय बनाने के लिए 33 वर्ग मीटर जमीन चाहिए। किसानों से जमीन दान देने के लिए अपील की जाएगी तो मिल सकती है। प्रधान और सचिवों के साथ बैठक करके जमीन के मसले का निस्तारण करें। इसके अलावा विकास से संबंधित अन्य कार्यों में भी पारदर्शिता लाई जाए। जिन अधिकारियों को काम नहीं करना है, वह कार्रवाई के लिए तैयार रहें। किसी भी काम के लिए बहानेबाजी नहीं चल पाएगी। बैठक में डीपीओ राजेश कुमार सिंह, डीएसटीओ परवेज अहमद के अलावा खंड विकास अधिकारी और एडीओ मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस