अमरोहा, जेएनएन। 23 मई को सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हो जाएगी। अभी तक सबसे पहले पोस्टल बैलेट की गिनती होती थी। लेकिन इस बार सेना एवं सशस्त्र बलों में कार्यरत जवानों के लिए पहली बार इलेक्ट्रानिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट (ईटीपीबी) जारी किए गए थे। बड़ी संख्या में ईटीपीबी आना भी शुरू हो गए हैं।

 दस जिला स्तरीय अधिकारी लगाए गए

ईटीपीबी की गिनती में किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए जिलाधिकारी उमेश मिश्र ने दस जिला स्तरीय अधिकारी लगाए हैं। इन्हीं की देखरेख में ईटीपीबी की गिनती से पूर्व स्कैङ्क्षनग की जाएगी। आयोग ने ईटीपीबी में किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए इलेक्ट्रानिकली पोस्टल बैलेट, घोषणा-पत्र समेत लिफाफों तक पर क्यूआर कोड (क्विक रिस्पांस कोड) जारी किया गया है। मतगणना के समय सबसे पहले इसी क्यूआर कोड की स्कैनिंग की जाएगी। क्यूआर कोड मैच कर जाता है तो गिनती होगी अन्यथा पोस्टल बैलेट को निरस्त कर दिया जाएगा।

सबसे पहले होगी स्कैनिंग

सबसे पहले उस लिफाफे (13-सी) पर अंकित क्यूआर कोड की स्कैङ्क्षनग की जाएगी जिसमें घोषणा-पत्र (13-ए) व बैलेट पेपर (13-बी) के लिफाफे रहेंगे। स्कैङ्क्षनग के लिए मतगणना स्थल पर 10 टेबल लगाई गई हैं, जबकि स्कैङ्क्षनग के बाद वैध बैलेट पेपरों की गिनती को चार टेबल लगाई गई हैं। 13-सी की स्कैङ्क्षनग के बाद लिफाफा 13-ए में मौजूद घोषणा-पत्र की जांच की जाएगी, यदि दोनों स्तर पर क्यू आर कोड मिस मैच हो जाता है तो लिफाफा 13-बी में मौजूद बैलेट पेपर की गिनती नहीं की जाएगी। दोनों स्तर पर स्कैङ्क्षनग के बाद ही इलेक्ट्रानिकली बैलेट पेपर को गणना के लिए भेजा जाएगा। स्कैङ्क्षनग के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए जिलाधिकारी ने दस जिला स्तरीय अधिकारियों को लगाया है। इलेक्ट्रानिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट की दस टेबल पर स्‍कैनिंग  होगी, इसलिए ईवीएम-वीवीपैट के साथ ही इनके मतों की गणना की भी साथ ही साथ चलेगी। इनका रिकार्ड अलग से रखा जाएगा। स्कैङ्क्षनग के बाद चार टेबल पर ही पोस्टल बैलेट व ईटीपीबी की गणना की जाएगी।

अफसर-कर्मचारियों को आज दिया जाएगा प्रशिक्षण

ईटीपीबी (इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट) की गणना से पूर्व स्कैङ्क्षनग होनी है। चूंकि पहली बार ईटीपीबी सिस्टम का उपयोग किया गया है। लिहाजा दस जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ ही कम्प्यूटर में दक्ष तकनीकी कर्मचारियों की टीम भी लगाई गई है। इन सभी को सोमवार को जिला निर्वाचन अधिकारी उमेश मिश्र की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में एनआईसी के अधिकारी प्रशिक्षण देंगे। साथ ही आयोग के दिशा-निर्देशों की विस्तार से जानकारी दी जाएगी।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप