मुरादाबाद। जनपद सम्भल में बिजली उपभोक्ताओं पर करोड़ों बकाया है। तो सरकारी विभाग भी इससे पीछे नहीं है। सरकारी विभागों पर बिजली विभाग का तीन करोड़ से अधिक का बकाया है। इसमें सबसे अधिक जिला पंचायत व चिकित्सा विभाग पर 90-90 लाख रुपये बकाया है। बिजली विभाग के लगातार अवगत कराए जाने के बाद इन बकाया सरकारी विभागों के अधिकारियों के कान पर जूं नहीं रेंग रही है। जबकि बिजली विभाग पर लगातार बकाया वसूले जाने का दवाब बना हुआ है।बिजली विभाग के निजी उपभोक्ताओं पर करोड़ों की बकाया है। शहर के उपभोक्ताओं पर नौ करोड़ 50 लाख तथा देहात के उपभोक्ताओं पर तीन करोड़ 55 लाख रुपये बकाया है। इसके लिए विभाग लगातार प्रयासरत है। अभियान चलाकर वह वसूली कर रहा है। वसूल ने होने पर कनेक्शन भी काट रहा है। इन शहरी व देहात के उपभोक्ताओं के अलावा सरकारी विभाग भी बिजली बकाया को लेकर पीछे नहीं है।

इन विभागों पर है बकाया

बिजली विभाग का सरकारी विभागों पर करीब तीन करोड़ से अधिक बकाया है। इसमें जिला पंचायत व चिकित्सा विभाग पर 90-90 लाख रुपये, पुलिस पर 80 लाख, विकास विभाग पर नौ लाख, पंचायत विभाग पर 73 लाख, कृषि विभाग पर ढाई लाख तथा अन्य विभागों पर 11 लाख 68 हजार रुपये बकाया है। इसके अलावा सरकारी विभाग में ही स्टेट नलकूपों पर दो करोड़ 27 लाख रुपये की बकाया है। जनपद में सरकारी नलकूलों की संख्या 186 हैं। इससे जनपद के बिजली विभाग पर बकाया वसूली को लेकर खासा दवाब है।

वसूली न होने से अधिकारी परेशान

बिजली विभाग लगातार इन विभागों के अधिकारियों को अवगत कराता आ रहा हैं। इसके बाद भी इन विभागों के विभागध्यक्षों के कान पर जूं नहीं रेंग रही है। जबकि बिजली विभाग के आला अधिकारी परेशान है। अधीक्षण अभियंता आईपी ङ्क्षसह ने बताया कि सरकारी विभागों के पास जो बकाया है। उस बिल को जमा करने के लिए बार-बार कहा जा रहा, लेकिन वह बिल अभी तक जमा नहीं हुआ है। अगर जल्द ही बिल जमा नहीं होता तो कनेक्शन काटे जाएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस