अमरोहा, जेएनएन। जिलाधिकारी उमेश मिश्र ने कहा कि आशा, एएनएम व ग्राम प्रधान से होम क्वारंटाइन किए गए लोगों के बारे में पूरी जानकारी ली जाए। कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं घूमना चाहिए। यदि वह नहीं सुनता है तो नोटिस दिया जाए। नोटिस देने पर भी ध्यान नहीं देता है तो उसको एफआइआर दर्ज कर अस्थाई जेल भेजा जाए। वह गुरुवार की दोपहर करीब 12 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस को लेकर अधिकारियों की बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि गांवों व शहरों में गठित निगरानी समितियों से रोज पूछताछ कर रिपोर्ट ली जाए।

पूरी जानकारी के साथ उपचार पर जोर

अस्पतालों में आपातकाल सेवा में ऐसी डॉक्टर की तैनाती की जाए जो मरीजों से पूरी जानकारी लेकर उपचार कर सके। बुखार-खांसी से जो पीड़ित हैं, उनका सर्वे व जानकारी प्रधान, आशा, एएनएम व आरोग्य सेतु एप के जरिए लेकर कार्रवाई की जाए। प्रत्येक अस्पताल में पीपीई किट, मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स अवश्य उपलब्ध होने चाहिए। निगरानी में सहयोग नहीं करने वाले प्रधानों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाए।

समय से मिले वेतन 

आशा व एएनएम को पूरी सुविधा दी जाए। उनका वेतन समय से दिया जाए। बाहर से आने वाले मजदूरों का नमूना अवश्य लिया जाए। यदि बिना सैंपल कोई भी व्यक्ति जिले में प्रवेश करता है तो उस क्षेत्र के चिकित्साधिकारी पर कार्रवाई होगी। सीएमओ अस्पतालों का समय-समय पर निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहें। इस दौरान सीएमओ डॉ.मेघराज ¨सह के अलावा सभी एसीएमओ व डॉक्टर्स मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस