मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुरादाबाद(प्रदीप चौरसिया)। रेलवे डिफाल्टर अधिकारी एवं कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाने जा रहा है। अब 50 साल की उम्र के अधिकारियों के कार्य की समीक्षा होगी। रेलवे बोर्ड ने ऐसे अधिकारियों की 27 अगस्त तक सूची व अन्य जानकारी मांगी है। 

रेलवे काम नहीं करने वाले अधिकारियों और कर्मियों की छुट्टी करने जा रहा है। ऐसे में वेतन से कम काम करने वाले अधिकारियों को भी बाहर का रास्ता दिखाया जाना तय माना जा रहा है। बिना महत्व वाले कुछ  अधिकारियों के पदों को समाप्त किया जा सकता है। विजिलेंस या सीबीआइ की जांच में दोषी डिफाल्टर  अधिकारियों को सेवा से बाहर करने की तैयारी है।

रेलवे बोर्ड के सेक्रेट्री एसके मिश्रा ने 20 अगस्त को पत्र जारी कर कहा कि 50 साल उम्र के जे ग्रेड से ऊपर के सभी अधिकारियों के कार्य की समीक्षा होगी। 31 अगस्त तक 50 साल उम्र के अधिकारियों की सूचना अलग और 31 मार्च 2020 को 50 साल होने वाले अफसरों की सूची तैयार करें। उन्होंने सभी अधिकारियों की कार्य, उपयोगिता, कार्य करने की क्षमता सर्विस बुक भेजने के निर्देश दिए हैं। यह सूचना 27 अगस्त तक रेलवे बोर्ड को भेजी जानी है। 

रेलवे कर्मियों के मामले में थोड़ी नरमी

रेलवे कर्मियों के मामले में रेलवे ने नरमी बरती है। 55 साल उम्र वाले कर्मियों की कार्य की समीक्षा करेगा। इसकी भी रिपोर्ट 30 अक्टूबर तक मांगी गई है। शरीरिक रूप से कमजोर कर्मियों को सेवानिवृत्त किया जा सकता है। जीएम की वीडियो कांफ्रेंसिंग में इस मामले पर चर्चा की गई है। 

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप