अमरोहा, जेएनएन। थाने में तैनात सिपाही ने पुलिस के ड्यूटी सिस्टम पर सवाल खड़ाकर सोमवार रात अपनी जान दे दी। उसका शव किराये के कमरे में फांसी पर लटकता मिला। सिपाही की खुदकशी पूरे महकमे में चर्चा का विषय बनी है। आइजी रमित शर्मा ने मौका मुआयना किया। इस मामले में एसपी ने सीओ से रिपोर्ट तलब की है। मृतक सिपाही के पास से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें ड्यूटी सिस्टम पर सवाल खड़ा करते हुए इसमें बदलाव की अपील की गई है।

मुजफ्फरनगर जिले के थाना भौंराकलां के गांव मोहम्मदपुर माडर्न के रहने वाले सिपाही पंकज सिंह की तैनाती मंडी धनौरा थाने में थी। वह थाने के समीप ही लक्ष्मन सिंह के मकान में किराए के कमरे में अपने अतुल कुमार संग रहते थे। सोमवार की रात पंकज गांव टंडेरा मार्ग पर गश्त ड्यूटी में थे। रात दस बजे ड्यूटी खत्म करने के बाद पंकज अपने कमरे पर आ गए। मंगलवार सुबह उनका साथी अतुल जब कमरे पर पहुंचा तो पंकज का शव रस्सी के फंदे पर लटका दिखाई दिया। मौके पर पहुंचे एसपी विपिन ताडा ने छानबीन की।

सिपाही के पास से डीजीपी के नाम संबोधित सुसाइड नोट मिला, जिसमें ड्यूटी सिस्टम पर सवाल उठाते हुए मार्मिक अपील की थी कि ड्यूटी सिस्टम में सुधार लाकर मानसिक रूप से कमजोर हो रहे पुलिस कर्मियों को बचा लें। पुलिस कर्मियों का ड्यूृटी सिस्टम खराब है। आए दिन ड्यूटी का बढ़ता दबाव मानसिक रूप से कमजोर कर रहा है। दिनोंदिन खराब हो रहे इस डयूटी सिस्टम में सुधार लाया जाए, ताकि अन्य पुलिस कर्मियों को सुसाइड जैसे आत्मघाती कदम ना उठाना पड़े।

पत्र में पंकज ने उल्लेख किया कि आत्महत्या के लिए किसी भी पुलिस अधिकारी, कर्मचारी, थाना प्रभारी, मित्र, लड़की व परिजनों आदि को दोषी नहीं ठहराया जाए। वहीं पुलिस को एक आडियो भी मिला, जिसमें किसी लड़की से अंतिम बार बात की गई है। इस मामले को लेकर परिजनों ने हंगामा किया और मुकदमा दर्ज कराने की मांग की। एसपी विपिन ताडा ने बताया कि मृतक के परिजनों ने उसे आत्महत्या के लिए प्रेरित करने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई के लिए तहरीर दी है। मामले की जांच सीओ मंडी धनौरा मोनिका यादव को दी गई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस